Home » इंडिया » Guwahati: Sarbananda Sonowal takes oath as the Chief Minister of Assam
 

असम: सर्बानंद सोनोवाल की अगुवाई में पहली भाजपा सरकार की ताजपोशी

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2016, 17:40 IST
(एएनआई)

असम में बीजेपी विधायक दल के नेता सर्बानंद सोनोवाल ने आज राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इसके साथ ही असम में पहली भाजपा सरकार सत्तारूढ़ हो गई है. विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सहयोगियों समेत बहुमत हासिल हुआ था.

गुवाहाटी में हुए शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और लालकृष्ण आडवाणी समेत एनडीए के बड़े नेता शामिल हुए. असम के राज्यपाल पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य ने सर्बानंद सोनोवाल को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

मुख्यमंत्री सोनोवाल के अलावा नौ और विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली. सर्बानंद सोनोवाल के ठीक बाद बीजेपी विधायक हेमंत बिस्व सर्मा को राज्यपाल ने मंत्री पद की शपथ दिलाई.

शपथ लेने के फौरन बाद हेमंत बिस्व सर्मा मंच पर मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास पहुंचे. इस दौरान दोनों नेताओं ने एक-दूसरे को जीत की बधाई दी. असम में बीजेपी की बड़ी जीत में सोनोवाल के साथ ही बिस्व सर्मा की भी अहम भूमिका मानी जा रही है. शपथ लेने के बाद सोनोवाल और सर्मा एक-दूसरे के गले लगे.

सोनोवाल समेत 10 मंत्रियों की शपथ

बीजेपी के कोटे से सोनोवाल के अलावा पांच मंत्रियों ने शपथ ली. जबकि बीजेपी की सहयोगी असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के दो-दो विधायकों को मंत्री पद हासिल हुआ है.

शपथ ग्रहण समारोह में पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल समेत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद रहे. तीन बार लागातार राज्य के सीएम रहे तरुण गोगोई ने भी समारोह में शिरकत की.

असम का 'सर्बानंद'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शपथ ग्रहण कार्यक्रम के बाद लोगों को संबोधित किया. पीएम ने चुनाव में भारी जीत के लिए असम के लोगों को धन्यवाद दिया. पीएम ने कहा, "सर्बानंद जी को मैं काफी पहले से जानता था. वो एक जुझारू नेता हैं."

साथ ही पीएम ने असम के लोगों को भरोसा दिलाया कि केंद्र और राज्य कंधे से कंधा मिलाकर राज्य और देश को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे. पीएम ने कहा, "मुझे पूरी उम्मीद है कि सर्बानंद पूरी मेहनत करेंगे. जो राज्य प्रगति करना चाहते हैं, उन्हें सहयोग देना हमारा काम है. सोनोवाल की पूरी टीम समय का उपयोग असम के कल्याण के लिए करेगी."

पीएम ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि असम के सर्बानंद के लिए सर्बानंद जी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे.

पहली बार भाजपा सरकार

असम में 126 सीटों के लिए विधानसभा चुनाव हुए थे. 19 मई को वोटों की गिनती के बाद बीजेपी की अगुवाई वाले गठबंधन ने साफ बहुमत हासिल किया था. बीजेपी को राज्य की 60 सीटों पर विजय मिली थी. जबकि सहयोगी असम गण परिषद को 14 और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट को 12 सीटों पर कामयाबी मिली थी.

कांग्रेस की पिछले 15 साल से राज्य में सरकार थी. तरुण गोगोई की अगुवाई में चौथी बार कांग्रेस राज्य की सत्ता हासिल नहीं कर सकी. चुनाव में कांग्रेस को महज 26 सीटों से संतोष करना पड़ा. वहीं बदरुद्दीन अजमल की एआईयूडीएफ को 13 सीटों पर जीत मिली.

First published: 24 May 2016, 17:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी