Home » इंडिया » hafiz saeed speak openly on kashmir alleged to india
 

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड बोला, 'भारत को खुश करने के लिए मुझे नजरबंद किया गया'

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2017, 12:06 IST

एक पाकिस्तानी चैनल को इंटरव्यू देते हुए मोस्ट वाटेंड आतंकी हाफिज सईद ने पाकिस्तान पर अप्रत्यक्ष रूप से आरोप लगाते हुए कहा कि भारत के दबाव में आकर मुझे नजरबंद कर दिया जाता है. हाफिज़ सईद ने आरोप लगाया, "जब भारत की लोकसभा पर हमला हुआ, तो भी मेरे खिलाफ कोई सबूत नहीं था. मुंबई हमला हुआ, फिर भी सबूत नहीं था. भारत सिर्फ प्रोपेगेंडा फैला रहा है."

हाफिज़ ने कहा कि भारत का प्रधानमंत्री कहता है कि उसने पाकिस्तान को तोड़ा है, अब वह बलूचिस्तान में भी वही कर रहे हैं. भारत हर इल्ज़ाम को पाकिस्तान के ऊपर लगा देता है. हाफिज ने कहा कि हम कश्मीर के बारे में खुल कर कहते हैं, जो इस वक्त कुर्बानियां दे रहे हैं. वो हमारा नाम यहां जोड़ने की बजाय मुंबई और अन्य जगहों पर जोड़ते हैं. हर बार मेरी गिरफ्तारी पर कोर्ट में कोई इल्ज़ाम नहीं हो सका है.

उसने कहा कि अमेरिका ने भी माना है कि 2012 से अब तक कोई मामला नहीं आया है, लेकिन इसके बाद भी अमेरिका भारत की बात पर हां में हां मिलाता है. मुझे नज़रबंद कर भारत को खुश किया जाता है. अगर कश्मीर का मुद्दा नहीं होगा, तो भारत से कोई मसला नहीं होगा.

हाफिज़ ने कहा, "जब मैं 1994 में अमेरिका गया था, तब वहां कश्मीर के मुद्दे पर बात की थी. मुझे किसी ने नहीं टोका था." हाफिज़ ने आरोप लगाया कि उसके बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ लॉबिंग करनी शुरू कर दी.

आपको बता दें कि पाकिस्तान के आंतरिक मंत्रालय के लगातार विरोध के बावजूद कुख्यात आतंकी और जमात-उद-दावा (जेयूडी) के अमीर हाफीज मुहम्मद सईद ने नवाज शरीफ के संसदीय क्षेत्र में अपना राजनीतिक ऑफिस खोल दिया है. जमात-उद-दावा प्रमुख ने नेशनल असेंबली संसदीय क्षेत्र एनए-120 में कई क्षेत्रों में जांच-पड़ताल के लिए दौरा किया था.

यह सीट पाकिस्तान की राजनीति में हाई प्रोफाइल मानी जाती है क्योंकि यह पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का संसदीय क्षेत्र है और 1985 में राजनीति में कदम रखने के बाद वह एक बार भी इस सीट से नहीं हारे.

First published: 29 December 2017, 12:03 IST
 
अगली कहानी