Home » इंडिया » Halala is totally unrelated to islam says all india muslim personal law board
 

हलाला का इस्लाम से लेना देना नहीं, मुसलमानों और औरतों पर ताने के लिए हुआ इस्तेमाल- AIMPLB

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2018, 10:15 IST

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा कि हलाला को इस्लाम की चीज बताकर पेश किया गया. पूरे देश में जिस हलाला को इस्लाम से जोड़कर देखा गया, इस्लाम की चीज कहा गया और इस्लाम के साथ मुसलमानों को बदनाम करने, औरतों पर जुल्म करने का ताना दिया गया, उस हलाला का इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है.

देश में मुसलमानों के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा कि निकाह हलाला गैर-इस्लामिक है. हलाला को इस्लाम से जोड़कर देखने पर ऐतराज जताते हुए मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सेक्रटरी और सोशल मीडिया डेस्क के प्रभारी मौलाना मोहम्मद उमरैन महफूज रहमान ने रविवार को कहा कि हलाला को इस्लाम की चीज बता कर पूरे देश में पेश किया गया. यह इस्लाम को बदनाम करने की साजिश है.

 

उन्होंने कहा कि इस्लाम में इसकी (हलाला) कोई गुंजाइश नहीं है. यह हराम है, गलत है, गुनाह है, पाप है. हलाला का इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है. मौलाना रहमान ने बताया कि सोशल मीडिया पर तीन तलाक, शरियत और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को लेकर कई तरह की अफवाह फैलाई जा रही हैं. 

पढ़ें- बहुविवाह और हलाला पर SC ने कहा, 5 जजों की कॉन्स्टीट्यूशन बेंच करेगी सुनवाई

उन्होंने बताया कि इसे रोकने और सही जानकारी देने के लिए बोर्ड ने पिछले साल सोशल मीडिया डेस्क स्थापित की थी. अब इसका विस्तार पूरे देश में किया जाएगा. यह डेस्क फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सऐप, यू-ट्यूब चैनल और टेलिग्राम चैनल के जरिए सही जानकारी लोगों तक पहुंचाएगा. डेस्क लोगों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब तुरंत भी देगा.

First published: 13 August 2018, 10:15 IST
 
अगली कहानी