Home » इंडिया » handwara after court order the victim girl release on illegal police custody
 

हंदवाड़ा विवाद: कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने लड़की को रिहा किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 May 2016, 17:07 IST
जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट ने गुरुवार को हंदवाड़ा में कथित छेड़खानी की शिकार रही लड़की को पुलिस कस्टडी सेे रिहा करने का आदेश दिया है.

इस मामले में पीड़ित लड़की के परिजनों ने दो दिन पहले कोर्ट से कहा था कि उन्हें किसी तरह की पुलिस सुरक्षा की ज़रूरत नहीं है, जिसके बाद कोर्ट ने लड़की के परिजनों से इस संबंध में हलफनामा भी मांगा था.

पढ़ें: हंदवाड़ा में फिर लगा कर्फ्यू, इंटरनेट-मोबाइल सेवा बहाल

लड़की की निगरानी गैर-कानूनी


समाचार वेबसाइट बीबीसी के मुताबिक परिजनों के वकील परवेज इमरोज ने कोर्ट के आदेश के बाद कहा कि कोर्ट ने आदेश दिया है कि लड़की को पुलिस की गैरकानूनी निगरानी में नहीं रखा जाना चाहिए.

पुलिस के द्वारा लड़की को पिछले 27 दिनों से गैरकानूनी निगरानी में रखा जाना गलत था.

तस्वीरें: हंदवाड़ा में सेना के बंकर हटे, चौराहे का नाम 'नईम चौक' रखने की मांग

वहीं हंदवाड़ा के एसपी गुलाम जिलानी भट ने भी अदालत के आदेश के बाद कहा कि हमारी ओर से लड़की को दी जा रही सुरक्षा हटा ली जाएगी.

इस विवाद में अभी तक लड़की ने दो अलग-अलग बयान दिए हैं. लड़की ने अपने पहले बयान में कहा था कि उसे एक स्थानीय लड़कों के द्वारा छेड़ा गया था और दूसरे बयान में उसने छेड़छाड़ का आरोप सेना के जवान पर लगाया था.

पढ़ें: हंदवाड़ा:कथित छेड़खानी की शिकार छात्रा हिरासत में

हिंसक प्रदर्शन के बाद हिरासत


गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 12 अप्रैल को लड़की को उस समय हिरासत में लिया गया था, जब हंदवाड़ा कस्बे में सैनिक पर इस लड़की के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए लोगों ने हिंसक प्रदर्शन किए थे.

इस हिंसक प्रदर्शन में सेना और पुलिस की फायरिंग में पांच लोगों की मौत हो गयी थी. जिसके बाद घाटी के हालात बिगड़ गए थे.

First published: 13 May 2016, 17:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी