Home » इंडिया » Happy New Year: Rules of many services including banking will change from 1 January 2021, here is the complete information
 

Happy New Year : 1 जनवरी 2021 से बदल जाएंगे बैंकिंग सहित कई सेवाओं के नियम, यहां है पूरी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 December 2020, 14:24 IST

Happy New Year : नया साल 2021 आने में महज एक बाकी है. नए साल में बैंकिंग नियमों कई बदलाव हो जाएंगे. 1 जनवरी, 2021 से सभी वाहनों के लिए FASTags को अनिवार्य कर दिया गया है. जबकि बैंकिंग से संबंधित धोखाधड़ी को रोकने के लिए नया चेक पेमेंट सिस्टम पॉजिटिव पे (Positive Pay) इंट्रोड्यूस किया जा रहा है. इसके अलावा छोटे बिजनेस के लिए GST रिटर्न फाइल करने के नियमों में भी बदलाव होने जा रहा है. इन नए नियमों का बीमा, चैटिंग, पैसों का लेनदेन, खरीददारी और अन्य कई रोजमर्रा के कामों पर असर पड़ेगा.

चेक पेमेंट पॉजिटिव पे


बैंक धोखाधड़ी को रोकने के लिए 1 जनवरी से चेक पेमेंट से जुड़ा नया नियम पॉजिटिव पे (Positive Pay) बैंकों में लागू किया जाएगा. नए नियम के तहत 50,000 रुपये से अधिक भुगतान वाले चेक के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम लागू होगी. यह एक ऑटोमैटिक टूल है जो चेक के जरिये धोखाधड़ी करने पर लगाम लगाएगा. जो व्यक्ति चेक जारी करेगा, उन्हें इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से चेक की तारीख, लाभार्थी का नाम, प्राप्तकर्ता और पेमेंट की रकम के बारे में दोबारा जानकारी देनी होगी.

नए नियम के अनुसार चेक जारी करने वाले व्यक्ति को यह जानकरी SMS, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से देनी होगी. इसके बाद चेक पेमेंट से पहले इन जानकारियों को क्रॉस-चेक किया जाएगा. अगर इसमें कोई गड़बड़ी पाई जाएगी चेक से भुगतान नहीं किया जाएगा.

UPI पेमेंट पर बढ़ेगा चार्ज

NPCI ने थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स द्वारा UPI ट्रांजैक्शन के कुल वॉल्यूम पर 30 फीसदी की सीमा लगा दी है. यह सीमा 1 जनवरी से लागू होगी.  नए साल में अमेजन पे, गूगल पे और फोन पे से ट्रांजैक्शन करने पर एक्सट्रा चार्ज लगेगा. थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स की ओर से चलाई जाने वाली UPI पेमेंट सर्विस पर अतिरिक्त चार्ज लगाने का निर्णय लिया है. 30 फीसदी की सीमा को पिछले तीन महीने के दौरान UPI में प्रोसेस्ड ट्रांजैक्शन के कुल वॉल्यूम के आधार पर कैलकुलेट किया जाएगा.

कॉन्टैक्सलेस कार्ड पेमेंट की सीमा बढ़ी

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कॉन्टैक्सलेस कार्ड पेमेंट की सीमा नए साल में बढ़ाने की घोषणा की है. इसके तहत ग्राहक 01 जनवरी से 2000 रुपए के बदले 5000 रुपए तक का कॉन्टैक्सलेस कार्ड पेमेंट एक बार में कर सकेंगे. हालांकि, कॉन्टैक्सलेस कार्ड पेमेंट करने का फैसला यूजर्स पर छोड़ा गया है कि वे इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं या नहीं. इससे कोविड-19 के समय में सुरक्षित तरीके के पेमेंट करने में मदद मिलेगी.

GST ई-इनवॉइसिंग में बदलाव

सालाना पांच करोड़ रुपये तक का कारोबार करने वाले छोटे कारोबारियों को अगले 1 जनवरी से सिर्फ 4 सेल्स रिटर्न फाइल करने होंगे. अभी कारोबारियों को महीने के आधार पर 12 रिटर्न (GSTR 3B) दाखिल करने होते हैं. इससे 94 छोटे बिजनेस को बड़ी राहत मिलेगी. नया नियम लागू होने के बाद टैक्सपेयर्स को केवल 8 रिटर्न भरने होंगे. इनमें 4 GSTR 3B और 4 GSTR 1 रिटर्न भरना होगा. 

वाहनों के लिए फास्टैग जरुरी

1 जनवरी, 2021 से सभी वाहनों के लिए टोल प्लाजा पर फास्टैग (fastag) जरूरी होगा. यह नियम पुराने वाहनों के लिए भी आवश्यक होगा. यानी किसी भी टोल प्लाजा पर कैश में टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा. बिना फास्टैग के नेशनल हाईवे टोल पार करने वाले चालकों को दोगुना चार्ज देना होगा. वर्तमान में टोल प्लाजा पर 80 फीसदी लाइनों को फास्टैग और 20 परसेंट लाइनों को कैश में इस्तेमाल किया जा रहा है.

सरल जीवन बीमा

IRDAI ने सभी बीमा कंपनियां को 1 जनवरी से ग्राहकों के लिए सरल जीवन बीमा (Standard term life insurance Policy) लॉन्च करने को कहा है. यह योजना एक स्टैंडर्ड टर्म इंश्योरेंस होगी. इससे ग्राहकों को कंपनियों की ओर से पहले से दी गई जानकारियों के आधार पर फैसला लेने में मदद मिलेगी.

15 जनवरी 2021 से लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने पर मोबाइल नंबर से पहले जीरो लगाना जरूरी होगा. लैंडलाइन से लैंडलाइन, मोबाइल से लैंडलाइन और मोबाइल से मोबाइल पर कॉल करने के लिए डायलिंग प्लान में कोई बदलाव नहीं होगा. टेलीकॉम मंत्रालय ने सभी टेलीकॉम ऑपरेटर्स को 1 जनवरी से इस सिस्टम के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करने का निर्देश दिया है.

महंगी हो जाएंगी कारें 

नया साल आते ही कारों की कीमतों में बड़ी बढ़ोतरी हो सकती है. ऑटोमेकर रेनॉल्ट इंडिया (Renault India) ने शुक्रवार को कहा कि वह अगले महीने से अपने सारे मॉडल रेंज की कीमतों में 28,000 रुपये तक की बढ़ोतरी करेगी. कंपनी Kwid, Duster और Triber जैसे मॉडल बेचती है. रेनॉल्ट ने कहा कि जनवरी से कीमतों में बढ़ोतरी वेरिएंट और उत्पादों में अलग-अलग होगी. रेनॉल्ट इंडिया ने एक बयान में कहा "मूल्य वृद्धि का कारण लगातार बढ़ती इनपुट लागतों के कारण हो रही है, जिसमें इस्पात, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक और अन्य संबद्ध लागतों के लिए इनपुट लागत भी शामिल है."

अन्य ऑटोमोबाइल निर्माताओं जैसे कि मारुति सुजुकी इंडिया, फोर्ड इंडिया और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने पहले ही कहा है कि वे बढ़ती लागत, विशेष रूप से कच्चे माल और कमोडिटी की कीमतों के प्रतिकूल प्रभाव को कम करने के लिए जनवरी से अपने वाहनों की कीमत में वृद्धि करेंगे.

मुकेश अंबानी को बड़ा झटका, चीन के इस कारोबारी ने छीना एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का ताज

First published: 31 December 2020, 13:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी