Home » इंडिया » Hardik patel guilty in BJP mla office violence during patidar agitation sent to jail for 2 years
 

तो क्या जेल से आमरण अनशन करेंगे हार्दिक पटेल !

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2018, 12:55 IST

पाटीदार आंदोलन के दौरान हुई हिंसा मामले में आज फैसला आ गया है. हार्दिक पटेल को बीजेपी विधायक के ऑफिस में तोड़ फोड़ करने के आरोप में दोषी करार करते हुए 2 साल की सजा सुनाई गई है. इस मामले में हार्दिक पटेल के साथ लाल जी पटेल को भी सजा सुनाई गई. कोर्ट ने इन दोनों आरोपियों IPC की धारा 147, 148, 149, 427 और 435 के तहत दोषी बताया है.

वहीं इस मामले में बाकी 14 लोगों को बरी कर दिया गया है. पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के दफ्तर में ये घटना 23 जुलाई 2015 को हुई.

ये भी पढ़ें- हार्दिक का हमला- PM मोदी और योगी, कांग्रेस और अखिलेश के विकास को बढ़ा रहे हैं आगे

गौरतलब है कि इस आंदोलन के दौरान तकरीबन 500 लोगों ने बीजेपी विधायक के दफ्तर पर हमला किया था. इस भीड़ की अगुवाई हार्दिक पटेल और 16 अन्‍य लोगों ने की थी. कोर्ट ने सजा के साथ साथ फैसला सुनाया है कि दोषी और उसके साथियों को बीजेपी विधायक को एक लाख रुपये मुआवजा भी देना होगा.

क्या जेल से आमरण अनशन करेंगे हार्दिक पटेल

गौरतलब है कि हार्दिक पटेल 25 अगस्त से सरकारी नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की मांग पर अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने जा रहे थे. आमरण अनशन को उन्होंने अपनी आखिरी जंग बताया.

 

फेसबुक की आधिकारिक पेज पर पोस्ट किये वीडियो में उन्होंने कहा, ‘यह हमारी आखिरी लड़ाई है. या तो मैं अपनी जान दे दूंगा या हम आरक्षण प्राप्त करेंगे. इसके लिए हमें आपके समर्थन की जरूरत है. यह लड़ाई आखिरी चरण में आ गई है. यह आमरण अनशन मेरी अंतिम जंग की तरह होगी.’

ये भी पढ़ें- बोले हार्दिक पटेल: अगर 2019 में नरेंद्र मोदी बने प्रधानमंत्री तो देश में लगेगा राष्ट्रपति शासन

First published: 25 July 2018, 12:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी