Home » इंडिया » Haridwar: Atal Bihari Vajpayee ashes in Har ki Pauri in Uttarakhand
 

हरिद्वार: अटल बिहारी वाजपेयी हर की पौड़ी के ब्रह्मकुंड मेें हुए लीन, अस्थियां गंगा में प्रवाहित

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2018, 13:29 IST

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को हर की पौड़ी के ब्रह्मकुंड में विसर्जित कर दिया गया है. उनके परिवार ने उनकी अस्थियों को गंगा में विसर्जित किया. हरिद्वार के ब्रह्मकुंड में बेटी नमिता ने अपने पिता वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन किया. इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे.

अटल बिहारी वाजपेयी की बेटी ने उनकी अस्थियों को पूरे मंत्रोच्चार के साथ गंगा मं प्रवाहित किया. उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद हैं. उनके अलावा उत्तराखंड सरकार के कई मंत्री भी शामिल हैं. पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के पारिवारिक पुरोहित अखिलेश शास्त्री ने मंत्रोच्चार किया. 

इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी की कलश यात्रा निकाली गई. यह कलश यात्रा हरिद्वार के भल्ला कॉलेज से शुरू हुई. इस यात्रा में भाजपा के 15000 कार्यकर्ता समेत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे. वहीं उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा उत्तराखंड सरकार के कई मंत्री भी अस्थि कलश यात्रा में शामिल रहे.

पढ़ें- अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां आज हरिद्वार समेत देश की इन 100 पवित्र नदियों में होंगी प्रवाहित

पूर्व पीएम वाजपेयी की कलश यात्रा में शामिल होने के लिए 200 बसों से 15000 बीजेपी कार्यकर्ता देहरादून से हरिद्वार पहुंचे. हरिद्वार के भल्ला कॉलेज ग्राउंड में अस्थि कलश यात्रा के लिए दो हेलीकॉप्टर से लोग आए थे. एक में अटल बिहारी वाजपेयी के परिजन आए. दूसरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ और राजनाथ सिंह पहुंचे.

पढ़ें- उत्तराखंड: हरिद्वार में अटल की अंतिम कलश यात्रा, शाह-राजनाथ समेत हजारों BJP कार्यकर्ता शामिल

बता दें कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन हरिद्वार के अलावा देश की 100 अन्य पवित्र नदियों में होगा. इसके साथ ही सभी राज्यों की राजधानियों में सर्वदलीय सभा भी होगी. लखनऊ में शिया और सुन्नी समुदाय के धर्मगुरुओं ने अटल जी के निधन की वजह से बकरीद को सादगी से मनाने की अपील की है.

 

First published: 19 August 2018, 13:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी