Home » इंडिया » Haridwar: Atal Bihari Vajpayee Asthi Kalash Yatra Amit Shah, Rajnath Singh, Yogi Adityanath present
 

उत्तराखंड: हरिद्वार में अटल की अंतिम कलश यात्रा, शाह-राजनाथ समेत हजारों BJP कार्यकर्ता शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2018, 12:22 IST

अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम कलश यात्रा हरिद्वार में शुरू हो गई है. इस यात्रा में भाजपा के 15000 कार्यकर्ता समेत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद हैं.

अटल बिहारी वाजपेयी की यह कलश यात्रा हरिद्वार के भल्ला कॉलेज से शुरू होगी हुई. इसमें उत्तराखंड के सीएण त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद हैं. उनके अलावा उत्तराखंड सरकार के कई मंत्री भी अस्थि कलश यात्रा में शामिल हैं. पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के पारिवारिक पुरोहित अखिलेश शास्त्री घाट पर मौजूद हैं.

बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी की यह अस्थि कलश यात्रा 2 किलोमीटर लंबी होगी. इसमें हजारों लोग शामिल हैं. अटल की बेटी नमिता भट्टाचार्य पूर्व पीएम को आखिरी विदाई देंगी. इस दौरान परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद रहेंगे. हरिद्वार के ब्रह्मकुंड में अटल बिहारी की अस्थियां विसर्जित होंगी. इसमें मंत्रोच्चार के साथ आखिरी विदाई दी जाएगी.

इससे पहले वाजपेयी की कलश यात्रा में शामिल होने के लिए 200 बसों से 15000 बीजेपी कार्यकर्ता देहरादून से हरिद्वार पहुंचे हैंं. इससे पहले हरिद्वार के भल्ला कॉलेज ग्राउंड में अस्थि कलश यात्रा के लिए दो हेलीकॉप्टर से लोग आए थे. एक में अटल बिहारी वाजपेयी के परिजन आए हैं. दूसरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ और राजनाथ सिंह पहुंचे हैं. 

 

बता दें कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन हरिद्वार के अलावा देश की 100 अन्य पवित्र नदियों में होगा. इसके साथ ही सभी राज्यों की राजधानियों में सर्वदलीय सभा भी होगी. लखनऊ में शिया और सुन्नी समुदाय के धर्मगुरुओं ने अटल जी के निधन की वजह से बकरीद को सादगी से मनाने की अपील की है.

पढ़ें- पंचतत्व में विलीन हुए अटल, शेष रह गई बस स्मृतियां

वहीं यूपी की योगी सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी का चार स्मारक बनाने की घोषणा की है. इसके अलावा यूपी में अटल बिहारी वाजपेयी की 18 अस्थि कलश यात्रा निकलेगी. यूपी के 22 शहरों के अलग अलग नदियों में भी अस्थि विसर्जन होगा.

First published: 19 August 2018, 12:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी