Home » इंडिया » harish rawat refuse to inaugurate horse shaktiman statue
 

देहरादून में चौराहे से गायब हो गया 'शक्तिमान'

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2016, 13:57 IST
(एएनआई)

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में 'शक्तिमान' घोड़े की मूर्ति विधानसभा चौक से रातों-रात हटा दी गई है. खबरों के मुताबिक विधानसभा चौक पर मूर्ति के अनावरण की सारी तैयारियां हो गई थीं, लेकिन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अनावरण से किनारा कर लिया है.

सूत्रों के मुताबिक रावत का कहना है कि 'शक्तिमान' की मूर्ति का अनावरण किसे और कब करना है. इसका फैसला अगली सरकार करेगी.

इसके बाद रात में ही मूर्ति को हटाने काम हुआ. बताया जा रहा है कि पुलिस ने रात दो बजे मूर्ति को हटाया. 

गौरतलब है कि उत्तराखंड में बजट सत्र के दौरान बीजेपी के विधानसभा घेराव के दौरान पुलिस टीम में शामिल शक्तिमान घोड़े की टांग टूट गई थी. जिसकी बाद में इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

इस मामले में आरोप मसूरी से बीजेपी के एमएलए गणेश जोशी पर लगे थे. जोशी को इस मामले में जेल की हवा भी खानी पड़ी थी.

सीएम रावत का अनावरण से इनकार

उसके बाद सीएम हरीश रावत ने शक्तिमान को शहीद बताया था. मुख्यमंत्री से इस बयान को ध्यान में रखते हुए पुलिस महकमे ने पुलिस लाइन में शक्तिमान की प्रतिमा दी और उसके उद्घाटन के लिए सीएम रावत को आमंत्रित किया.

बताया जा रहा है कि सीएम रावत पुलिस लाइन गए भी, लेकिन उन्होंने केवल दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया और मूर्ति के अनावारण से कन्नी काट ली.

बताया जा रहा है कि सीएम हरीश रावत इस बात से डर गए थे कि कहीं मूर्ति अनावरण को लेकर विपक्षी पार्टी बीजेपी उनकी आलोचना न करे.

उन्हें डर था कि बीजेपी उनसे पूछ सकती है कि सरकार ने उत्तराखंड आपदा में मारे गए पुलिसकर्मियों के लिए आज तक कोई स्मारक क्यों नहीं बनवाया?

First published: 12 July 2016, 13:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी