Home » इंडिया » Haryana CM: We've been assured of a peaceful protest on June 5. Cannot take away the right of a peaceful protest
 

हरियाणा सीएम: जाट समाज से 5 जून को शांतिपूर्ण प्रदर्शन का मिला भरोसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 May 2016, 17:35 IST

हरियाणा में जाट समाज एक बार फिर आरक्षण की मांग को लेकर प्रदर्शन की तैयारी में है. इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि जाट समाज ने उन्हें शांतिपूर्ण प्रदर्शन का भरोसा दिया है.

पांच जून को जाट समाज आरक्षण की मांग को लेकर जाट न्याय रैली आयोजित करने जा रहा है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है, "हमें भरोसा दिया गया है कि पांच जून को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन किया जाएगा. हम किसी से शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने का उसका अधिकार छीन नहीं सकते."

जाट न्याय रैली की तैयारी

इस बीच राज्य के आठ जिलों में धारा 144 लगाए जाने पर जब मुख्यमंत्री से सवाल पूछा गया तो सीएम खट्टर ने कहा, "ये एक प्रशासनिक काम है. जिस इलाके में जैसी जरूरत होगी, सुरक्षा दी जा रही है."

पढ़ें:हरियाणा: आरक्षण पर जाटों का अल्टीमेटम, 8 जिलों में धारा 144 लागू

इस बीच एक बार फिर जाट आरक्षण आंदोलन की आग भड़कने की आशंका को देखते हुए राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ और रैपिड एक्शन फोर्स के अलावा राज्य पुलिस की टुकड़ियों को भी मुस्तैद रखा गया है.

आरक्षण के आदेश पर रोक

पिछली बार आरक्षण आंदोलन के दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा भड़क उठी थी. लिहाजा इस बार राज्य सरकार कोई जोखिम उठाने के मूड में नहीं है. पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने जाट समेत छह जातियों को आरक्षण देने के राज्य सरकार के आदेश पर रोक लगा दी थी. इसके लिए विधानसभा से बिल भी पारित कराया गया था.

जाटों और अन्य पांच जातियों को सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण देने के लिए हरियाणा सरकार ने 13 मई को हरियाणा पिछड़ा वर्ग (नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण) अधिनियम, 2016 को अधिसूचित किया था. लेकिन, पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत आरक्षण पर अंतरिम स्थगन आदेश दे दिया है.

First published: 30 May 2016, 17:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी