Home » इंडिया » Haryana cops to collect biryani samples to check for beef in Mewat
 

हरियाणा: बीफ बेचने के शक में मेवात में बिरयानी की दुकानों से सैंपल लेगी पुलिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 September 2016, 13:29 IST
(पत्रिका)

बकरा ईद को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार ने पुलिस को दुकानों से बीफ तलाशने की जिम्मेदारी सौंपी है. राज्य सरकार के गोसेवा आयोग ने राज्य के मुस्लिम बहुल इलाक़े में बकरा ईद त्यौहार से पहले हरियाणा पुलिस को बिरयानी बेचने वालों की जांच करने के लिए कहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा सरकार ने पुलिसवालों को प्रदेश के सबसे बड़े मुस्‍लिम बहुल क्षेत्र मेवात में बिरयानी की दुकान लगाने वाले सभी लोगों से उनकी बिरयानी के सैंपल लेने के निर्देश दिए है. ताकि पता लगाया जा सके कि उनकी बिरयानी में गाय का मांस तो नहीं है.

मेवात पुलिस को ये आदेश हरियाणा गोसेवा आयोग के अध्‍यक्ष भानीराम मंगला और काउ प्रोटेक्‍शन टास्‍क फोर्स की इंचार्ज और वरिष्‍ठ आईपीएस अधिकारी भारती अरोड़ा ने दिया है. पुलिस ने बताया कि उन्हें ऐसी शिकायत मिली है कि दुकान वाले चावल में बीफ मिलाकर बेचते हैं.

पुलिस को साफ निर्देश दिए गए हैं कि सैंपल में गोमांस की पुष्टि होने पर तुरंत बेचने वाले को गिरफ्तार कर लिया जाए. मेवात के बाद राज्यों के अन्य जिलों में भी इसी तरह की जांच की जाएगी.

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार ने पिछले साल गौवंश संरक्षण और गौसंवर्धन विधेयक, 2015, पारित किया था. इस विधेयक के तहत राज्य में गोहत्या और गौ मांस की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध का प्रावधान हैं. इसमें गोहत्या करने पर 10 साल की सजा के साथ एक लाख रुपये के जुर्माने का भी प्रावधान है. वहीं गोमांस बेचने पर 5 साल तक की सजा का प्रावधान है. 

First published: 7 September 2016, 13:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी