Home » इंडिया » Hathras Case: Yogi Government files affidavit in SC says three layered security has been provided for the victims family and witnesses
 

Hathras Case: यूपी सरकार ने SC में दिया हलफनामा, कहा- पीड़ित परिवार और गवाहों को दी जा रही सुरक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 October 2020, 14:59 IST

Hathras Case: यूपी के हाथरस (Hathras) में दलित लड़के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) और मौत के मामले में राज्य सरकार (State Government) ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में एक नया हलफनामा दाखिल किया. इस हलफनामे में राज्य सरकार ने सफाई दी कि पीड़ित परिवार (Victims Family) और गवाहों को तीन स्तरीय सुरक्षा प्रदान की जा रही है. दरअसल, पिछली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा था कि हाथरस मामले में पीड़िता के परिवार और गवाहों को किस प्रकार की सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है. शीर्ष कोर्ट ने इस संबंध में यूपी सरकार को जवाब दाखिल करने को कहा था.

योगी सरकार (Yogi Government) ने अपने इस हलफनामे में शीर्ष कोर्ट से कहा कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तीन-स्तरीय सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है. सरकार ने अदालत से कहा कि वह हाथरस कांड की जांच पर 15 दिनों की स्थिति रिपोर्ट राज्य सरकार को प्रस्तुत करने के लिए सीबीआई को निर्देश दें. इसमें कहा गया कि ऐसा करने से सुप्रीम कोर्ट के समक्ष यूपी डीजीपी द्वारा दायर किया जा सके. बता दें कि पिछली सुनवाई में प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे की पीठ के समक्ष सूचीबद्ध एक जनहित याचिका की प्रतिक्रिया में उत्तर प्रदेश सरकार ने उच्चतम न्यायालय से हाथरस मामले में सीबीआई जांच का निर्देश देने का अनुरोध किया था.


यूपी सरकार ने कोर्ट को बताया था कि वह निष्पक्ष जांच में निहित स्वार्थों द्वारा उत्पन्न की जा रही बाधाओं से बचने के लिए सीबीआई जांच कराने का आदेश देने का अनुरोध कर रही है.

Video: दुबई की सड़कों पर ब्रिटिश सिंगर ने गाया भारतीय गाना, लेफ्टिनेंट जनरल ने पोस्ट किया वीडियो

ये है हाथरस का पूरा मामला

दरअसल, उत्तर प्रदेश के हाथरस जनपद के चंदपा कोतवाली इलाके के एक गांव में 14 सितंबर को चार लोगों ने 19 साल की एक युवती के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम दिया. युवती से साथ दरिंदगी हुई तब वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी. क्योंकि उसकी जीभ में चोट लगी थी और रीढ की हड्डी टूटी थी. उसके बाद 15 सितंबर की सुबह करीब 11 बजे उसे हाथरस जिला अस्पताल लाया गया, जहां से उसे अलीगढ़ के लिए रेफर कर दिया गया.

Weather Update: हैदराबाद में बारिश से हाहाकार, कई इलाके जलमग्न, आठ लोगों की मौत, देश के कई इलाकों में आज भारी बारिश का अनुमान

22 सितंबर तक सामान्य तरीके से पीड़िता का इलाज होता रहा, जबकि उसकी हालत काफी गंभीर थी. 23 सितंबर को पीड़िता को वेंटिलेटर मिला. पीड़िता की हालत और बिगड़ी तो उसे 28 सितंबर को दिल्ली रेफर कर दिया. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़ित की इलाज के दौरान मौत हो गई. पीड़िता के भाई की तहरीर पर चार युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

14 महीने बाद रिहा हुईं महबूबा मुफ्ती, पार्टी नेताओं से की मुलाकात, कहा- कश्मीर के लिए संघर्ष रहेगा जारी

First published: 14 October 2020, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी