Home » इंडिया » HC : Bypolls in 13 MCD wards in 3 months
 

3 महीने के भीतर हों एमसीडी के 13 सीटों पर उपचुनाव: दिल्ली हाईकोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2016, 13:30 IST

दिल्ली हाईकोर्ट ने आज दिल्ली चुनाव आयोग को तीन महीने के भीतर 13 म्युनिसिपल वार्डों में उपचुनाव कराने के निर्देश दिये हैं.

हाई कोर्ट की चीफ जस्टिस जी रोहिणी और जस्टिस जयंत नाथ की खंडपीठ ने इस मामले में आदेश जारी करते हुए दिल्ली सरकार को भी दिशा-निर्देश जारी किया है कि वो चार हफ्तों के भीतर दिल्ली चुनाव आयोग को मैनपॉवर और फंड की सुविधा मुहैया कराये, ताकि उपचुनाव कराया जा सके.

खंडपीठ ने कहा कि हम दिल्ली चुनाव आयोग को ये आदेश देते हैं कि वो राज्य के तीन म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की 13 सीटों पर उपचुनाव कराये.

इससे पहले दिल्ली सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट को यह सुझाव दिया था कि इन उपचुनावों को सितंबर-अक्टूबर 2016 में एमसीडी के सारे वार्डों के चुनाव के साथ ही करा लिया जाय.

हालांकि एमसीडी के चुनाव 2017 में प्रस्तावित हैं लेकिन दिल्ली सरकार उसे थोड़ा पहले सितंबर-अक्टूबर 2016 में कराने की इच्छा रखती है. इस पर कोर्ट ने कहा कि नहीं इन 13 वार्डों के उपचुनाव के लिए इतने लंबे समय तक इंतजार नहीं किया जा सकता है.

कोर्ट ने इससे पहले दिल्ली चुनाव आयोग को आदेश देते हुए कहा था कि दिल्ली एमसीडी के 13 सीटों पर उपचुनाव 30 अप्रैल तक करा लिये जायें.

इस आदेश के बाद दिल्ली चुनाव आयोग ने अपने जवाब में कहा था कि वो इन 13 सीटों पर उपचुनाव कराना चाहती है, लेकिन इसके लिए राज्य सरकार की ओर से चार हफ्तों के भीतर मैनपॉवर, पुलिस और फंड की व्यवस्था करनी होगी.

इस आदेश के बाद दिल्ली सरकार ने कोर्ट में यह दलील दी की हमें मैनपॉवर देने के लिए जो समय दिया जा रहा है वो काफी नहीं है. 

कोर्ट ने दिल्ली सरकार और दिल्ली चुनाव आयोग को यह आदेश एक पीआईएल की सुनवाई करते हुए दिया है.

दिल्ली के 20 साल के लॉ स्टूडेंट ने इस मामले में पीआईएल दाखिल करके कोर्ट को यह बताया था कि उसके गांव में सड़कों और नालियों का बुरा हाल है.

इस समय साउथ दिल्ली की सात, नॉर्थ दिल्ली की चार और ईस्ट दिल्ली की दो एमसीडी काउंसलर की सीटें खाली पड़ी हैं.

इस मामले में बीते नवंबर में दिल्ली सरकार ने कहा था कि दिल्ली इलेक्शन पैनेल ने एमसीडी के इन खाली सीटों पर उपचुनाव को रोकने को कहा था.

जब दिल्ली चुनाव आयोग ने सरकार से इस मामले में फंड और मैनपॉवर देने की बात कही थी.वर्तमान में दिल्ली एमसीडी की 272 सीटों में 13 सीटें खाली पड़ी हैं.

First published: 29 January 2016, 13:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी