Home » इंडिया » Health Minister JP Nadda: Want to make it very clear that all private institutions and medical colleges will come under ambit of NEET
 

जेपी नड्डा: एनईईटी के दायरे में सभी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2016, 13:40 IST

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने साफ किया है कि नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (एनईईटी) के दायरे में सभी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज और संस्थान आएंगे. नड्डा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि मीडिया के कुछ हिस्से से ऐसी खबर आ रही है कि सरकार ने एनईईटी को टाल दिया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "मैं ये साफ करना चाहता हूं कि एनईईटी पर अमल हो रहा है. एक और बात मैं बिल्कुल साफ करता हूं कि सभी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज और संस्थान एनईईटी के दायरे में आएंगे." 

स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, "राज्यों को इस सत्र (2016-17) में अंडर ग्रेजुएट कोर्स के लिए परीक्षा कराने का मौका मिलेगा, लेकिन इस साल दिसंबर में एनईईटी के प्रावधानों के तहत ही पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल प्रवेश परीक्षा आयोजित होगी."

पढ़ें: क्या है मेडिकल परीक्षा एनईईटी को लेकर पैदा हुआ विवाद?

अध्यादेश पर राष्ट्रपति की मुहर

देश में कॉमन मेडिकल प्रवेश परीक्षा (एनईईटी) की अनिवार्यता पर रोक के लिए केंद्र सरकार ने अध्यादेश जारी किया था. जिस पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दस्तखत कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने इस साल देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में एनईईटी के जरिए प्रवेश परीक्षा के आदेश दिए थे.

अदालत ने दो चरणों में एनईईटी आयोजित कराने का फैसला किया था. एनईईटी का पहला चरण एक मई को संपन्न हुआ था. जबकि दूसरा चरण चौबीस जुलाई को प्रस्तावित था. पहले चरण की एनईईटी परीक्षा में करीब साढ़े छह लाख अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया था. कोर्ट ने 17 अगस्त को रिजल्ट घोषित करने का आदेश दिया है.

इस बीच अध्यादेश को गलत करार देते हुए याचिकाकर्ता के वकील का कहना है, "हम एनईईटी पर अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे. ये अध्यादेश कानून और संविधान के खिलाफ है. इस तरीके का अध्यादेश पहले कभी जारी नहीं हुआ था, लिहाजा हम इसे चुनौती देंगे."

First published: 24 May 2016, 13:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी