Home » इंडिया » Heavy Rain and Flood in North East Flood situation in Assam Meghalaya and Arunachal Pradesh's seven district
 

उत्तर भारत में गर्मी ने तो नॉर्थ ईस्ट में बारिश और बाढ़ ने किया लोगों का हाल बेहाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 May 2020, 11:11 IST

Assam floods update: उत्तर भारत में जहां गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है, वहीं पूर्वोत्तर के राज्य असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. इन राज्यों में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. तीनों राज्यों के कई शहरों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. जिसके चलते इन राज्यों के करीब 7 जिलों में 2 लाख से ज्यादा लोग भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. बता दें कि मंगलवार से ही असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश हो रही है जिसके चलते बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं.

राज्य आपदा प्रबंधन के मुताबिक, असम के धेमाजी, लखीमपुर, दर्रांग, नलबाड़ी, गोलपारा, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया में 229 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. इन गांवों में करीब 2 लाख लोग रहते हैं जिनमें से 9 हजार लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है. जानकारी के मुताबिक, एक हजार हेक्टेयर से अधिक भूमि पर लगी फसल जलमग्न हो गई. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (ASDMA) ने कहा कि गोलपारा और तिनसुकिया जिलों में बाढ़ से प्रभावित लोगों को 35 राहत शिविरों में शरण दी गई है.


Chandra Grahan 2020: 5 जून को लगेगा साल का दूसरा चंद्र ग्रहण, इन राशियों पर पड़ेगा बुरा असर

इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश की दिबांग घाटी में भूस्खलन की वजह से एक ही परिवार के तीन लोगों के मरने की खबर है. अभी भी हालात बेहद खबरा हैं. मौसम विभाग ने इन राज्यों में 26 से 28 मई तक भारी बारिश की आशंका जताई थी. मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अलर्ट जारी कर कहा है कि इन राज्यों में मंगलवार से ही बारिश हो रही है. भारतीय मौसम विभाग के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र की प्रमुख सती देवी बताया कि बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पश्चिमी हवाएं भारी नमी के साथ इन दोनों राज्यों की तरफ बह ही हैं.

हिन्‍द महासागर में मौजूद विशाल टेक्टोनिक प्लेट को लेकर शोध में हुआ ये चौंकाने वाला खुलासा

इसके अलावा इन दोनों राज्यों के अपने भौगोलिक कारक भी हैं, जिससे कई जगहों पर भारी बारिश हो रही है. कुछ जगहों पर बहुत तेज बारिश की भी संभावना है. वहीं केंद्रीय जल आयोग ने कहा कि ब्रह्मपुत्र नदी जोरहाट जिले में खतरे के स्तर से ऊपर बह रही है जबकि जिया भराली सोनितपुर जिले में खतरे के निशान से ऊपर थी. प्राधिकरण द्वारा जारी बुलेटिन के मुताबिक, गोलपारा में सबसे अधिक 1.68 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. जबकि नलबाड़ी में 10 हजार 943 और डिब्रूगढ़ में 7,897 लोग प्रभावित हुए हैं.

अलर्ट! अगले 3 दिन भयंकर पड़ने वाली है गर्मी, लू से जीना होगा मुहाल, इस दिन के बाद मिलेगी राहत

उत्तर भारत में आसमान छूने लगा पारा, दिल्ली में कल 47 डिग्री तक जा सकता है तापमान

वहीं तिनसुकिया में बाढ़ से 3,455 लोग प्रभावित हुए हैं और लखीमपुर में 2,970, दरांग में 845 और धेमाजी में 610 लोग प्रभावित हैं. नलबाड़ी जिले में एक तटबंध टूट जाने से सड़क डूब गई हैं. मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी से आ रही तेज हवाओं की वजह से अगले 5 दिनों तक असम और मेघालय में भारी बारिश होगी. अरुणाचल प्रदेश में आज बारिश होगी. नागालैंड, मणिपुर , मिजोरम और त्रिपुरा में भी अगले 5 दिनों में भारी बारिश का अनुमान है.

दिल्ली-एनसीआर समेत पूरेे उत्तर भारत में गर्मी का कहर जारी, कई सालों का टूटा रिकॉर्ड

First published: 27 May 2020, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी