Home » इंडिया » High Court allows Bhim Army chief Chandrashekhar Azad to hold meeting near RSS Headquarters
 

कोर्ट ने दी रैली करने की इजाजत तो चंद्रशेखर रावण बोले- RSS हेडक्वार्टर के सामने फहराऊंगा तिरंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 February 2020, 16:14 IST

बॉम्बे हाईकोर्ट ने भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को नागपुर में RSS हेडक्वार्टर के सामने कार्यकर्ताओं के साथ रैली करने की इजाजत दे दी है. इसके बाद चंद्रशेखर रावण ने ऐलान किया है कि वह संघ के मुख्यालय के सामने तिरंगा फहराएंगे. रैली के जरिए आजाद नागरिकता संशोधन कानून (CAA), NPR और NRC के विरोध में प्रदर्शन करेंगे.

चंद्रशेखर आजाद ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर इसका ऐलान किया. भीम आर्मी चीफ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, "मैं कल 2 बजे रेशमबाग नागपुर आ रहा हूं. फर्जी राष्ट्रवादियों का संगठन आरएसएस जिसने आज तक तिरंगे को सम्मान नहीं दिया, कल हम उनके हेडक्वार्टर के सामने तिरंगा फहराएंगे."

चंद्रशेखर ने इसके आगे लिखा, "मैं चाहूंगा कि कल सभी साथी रेशमबाग तिरंगा लेकर पहुंचे और बता दें कि इनके भगवे पर हमारा तिरंगा भारी है." गौरतलब है कि भीम आर्मी चीफ ने 18 फरवरी को उच्च न्यायालय में रेशम बाग मैदान पर रैली आयोजित करने की इजाजत मांगी थी.

आजाद ने रैली की इजाजत को लेकर कोर्ट में एक याचिका दायर की थी. इसके बाद अदालत ने महाराष्ट्र सरकार और नागपुर के पुलिस आयुक्त को नोटिस जारी किया था. इसके अलावा चंद्रशेखर ने 23 फरवरी को भारत बंद भी बुलाया है. उन्होंने एससी-एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यक वर्ग के नेताओं से भारत बंद का समर्थन करने की अपील की.

भीम आर्मी चीफ ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रमोशन में आरक्षण को लेकर दिए ताजा फैसले के विरोध में 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है. उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि यदि पिछड़े और दलित वर्ग के सांसद-विधायक इस बंद को अपना समर्थन नहीं देते तो उनके घरों के सामने भी प्रदर्शन किया जाएगा.

बात बिहार की: लांच होते ही प्रशांत किशोर का कार्यक्रम सुपर डुपर हिट, पहले दिन ही जुड़े लाखों लोग

'दो लाख नहीं दिए तो पूरा स्कूल उड़ा दूंगा' 10वीं के बच्चे ने दी धमकी, प्रशासन के उड़े होश

First published: 21 February 2020, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी