Home » इंडिया » high court: jungle raj in delhi save yourself if you can
 

हाईकोर्ट: दिल्ली में 'जंगलराज' जैसी स्थिति

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 May 2016, 14:30 IST

दिल्ली हाईकोर्ट ने एक मामले में सुनवाई के दौरान केंद्र और दिल्ली सरकार सख्त टिप्पणी करते हुआ कहा कि दिल्ली में जंगलराज जैसी स्थिति है. ऐसे हालात में जो खुद को बचा सकता है, अपने आप को बचा ले.

कोर्ट ने यह टिप्पणी केंद्र और दिल्ली सरकार पर दिल्ली पुलिस में अतिरिक्त भर्ती न किए जाने के संदर्भ में की है. केंद्र सरकार ने अपने जवाब में कहा कि दिल्ली पुलिस में भर्ती के लिए वित्त मंत्रालय को बजट देना होता है. 

दिल्ली पुलिस में भर्ती का मामला


इस पर कोर्ट ने कहा कि हमें भी पता है कि यह मामला गृह मंत्रालय और वित्त मंत्रालय के बीच का है, लेकिन केंद्र के रुख से स्पष्ट है कि वह इस मुद्दे पर गंभीर नहीं है.

इसके अलावा कोर्ट ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस में नई भर्ती के लिए केंद्र सरकार के पास बजट नहीं है, तो वह कोर्ट को बताए, ताकि हम इस मामले की सुनवाई ही बंद कर दें.

हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को आदेश देते हुआ कहा कि वह अगली सुनवाई में कोर्ट को बताए कि विभाग में कितने पद खाली पड़े हुए हैं. दिल्ली हाईकोर्ट मामले में अगली सुनवाई 27 मई को करेगा. 

महिला सुरक्षा के मुद्दे पर सुनवाई


इसके बाद कोर्ट ने फॉरेंसिक लैब में विचाराधीन मामलों को लेकर दिल्ली सरकार को भी जमकर लताड़ लगाई. दिल्ली सरकार ने इस मामले में जवाब देते हुए कोर्ट को बताया कि एफएसएल में 11000 केस विचाराधीन हैं.

इस पर कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा कि आप के रवैये से नहीं लगता कि आप इस समस्या को लेकर गंभीर नहीं है.

मालूम हो कि 16 दिसंबर के निर्भया गैंगरेप के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए महिला सुरक्षा के मुद्दे पर सुनवाई शुरू की है.

इसमें अतिरिक्त पुलिस बल, महिला सुरक्षा, सीसीटीवी कैमरे और फॉरेंसिक टेस्ट जैसे मुद्दे शामिल हैं.

First published: 20 May 2016, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी