Home » इंडिया » hindu mahasabha condemn modi statement on so called cow protector
 

मोदी के कथित गोरक्षकों वाले बयान पर भड़का हिंदू महासभा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 August 2016, 11:02 IST
(एजेंसी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कथित तौर पर गोरक्षा के नाम पर हिंसा करनेवालों पर तीखी टिप्पणी की, जिसके बाद हिंदू महासभा पीएम मोदी पर भड़क गई है.

गो हिंसा के नाम पर बीते ग्यारह महीने से जारी हिंसा और राजनीति पर कल पीएम मोदी ने टाउन हॉल में अपनी बात रखी. जिसके बाद अब कुछ लोग उनके विरोध में खड़े हो गए हैं.

मोदी के इस बयान पर अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव ने इस मामले में कहा है कि अगर गौ रक्षा में कुछ घटनाएं हो जाती हैं, तो मारपीट करने वालों को जेल भी जाना पड़ता है, लेकिन 70-80 फीसदी लोगों को अपराधी कहना बिल्कुल गलत है.

उन्होंने कहा कि साल 2014 के चुनाव में मोदी ने गौ हत्या पर रोक लगाने का वादा किया था, लेकिन गौ हत्या उसके बाद और बढ़ गयी है. उन्होंने कहा कि अगर एक भी गौ रक्षक गिरफ्तार हुआ तो हम इसका कड़ा विरोध करेंगे. मोदी संसद में ध्यान भटकाने के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं.

आपको बता दें कि अपनी सरकार की ‘माई गवर्नमेंट’ पहल की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर शनिवार को टाउन हॉल  स्टाइल (सार्वजनिक चर्चा)संबोधन में पीएम ने ऐसे लोगों को असामाजिक तत्व बताया और कहा कि ऐसे लोग गो सेवक नहीं हो सकते हैं, सिर्फ गाय की रक्षा के नाम पर दुकान चला रहे हैं. उन्होंने राज्य सरकारों को सलाह दी कि तथाकथित गाय रक्षकों पर दस्तावेज तैयार करें, क्योंकि उनमें से 80 फीसदी रात में अवैध गतिविधियां करते हैं और दिन में गाय के हिमायती बन जाते हैं. इस तरह का सहायता समूह चलाने का यह मतलब नहीं है कि दूसरों का उत्पीड़न किया जाये.

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि गायों का वध किये जाने से ज्यादा संख्या में प्लास्टिक खाने से उनकी मृत्यु होती है.  जो लोग जानवर की सेवा करना  चाहते हैं, उन्हें गायों को प्लास्टिक खाने से रोकना चाहिए, क्योंकि वह  बड़ी सेवा होगी. उत्तरप्रदेश, गुजरात सहित विभिन्न राज्यों में गाय रक्षकों की ओर से दलितों और मुसलिमों के खिलाफ हिंसा की घटनाओं को लेकर अपनी सरकार की किरकिरी होने के बाद पहली बार पीएम का यह बयान आया है.

First published: 7 August 2016, 11:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी