Home » इंडिया » hindu sena chief vishnu gupta will be externed from Delhi NCR
 

Exclusive: हिंदू सेना अध्यक्ष विष्णु गुप्ता होंगे दो साल के लिए तड़ीपार

शाहनवाज़ मलिक | Updated on: 19 February 2016, 14:06 IST
जब जेएनयू का विवाद चरम पर है, और दिल्ली पुलिस की साख दांव पर लगी हुई है तब उसने एक नया कदम उठाया है. दिल्ली पुलिस ने हिंदू सेना के मुखिया विष्णु गुप्ता को दो साल के लिए दिल्ली और एनसीआर से तड़ीपार करने का फैसला किया है.

दिल्ली पुलिस ने विष्णु गुप्ता को 25 फरवरी की सुबह 10 बजे तक की मोहलत दी है. गुप्ता को दिल्ली पुलिस की तरफ से एक शोकॉज़ नोटिस के जारी हुआ है. 25 तारीख की सुबह दस बजे तक उन्हें सरिता विहार स्थित ईस्ट दिल्ली के डीसीपी दफ्तर में हाज़िर होकर बताना है कि उन्हें तड़ीपार क्यों नहीं किया जाना चाहिए?

कैच हिंदी के पास दिल्ली पुलिस का वह नोटिस मौजूद है जिसमें विष्णु गुप्ता को तड़ीपार करने की वजहें और उनके अपराधों का उल्लेख है.
vishnuletter.jpg
पुलिस ने उन्हें 10 हज़ार रुपए का बांड भी भरने के लिए कहा है. विष्णु को जारी नोटिस में कहा गया है कि उनकी हरकतें दिल्ली और दिल्लीवालों के लिए खतरा बन रही है. साथ ही, यह मानने का पर्याप्त आधार भी है कि विष्णु बार-बार आपराधिक गतिविधियों का हिस्सा बन रहे हैं.

विष्णु गुप्ता के ख़िलाफ़ दिल्ली के अलग-अलग थानों में नौ मुकदमे दर्ज हैं. इनमें तिलक मार्ग और तुगलक रोड में तीन-तीन, चाणक्यपुरी में दो और सरिता विहार थाने में एक मामला है. लेकिन पुलिस इन मामलों की तफ्तीश ढंग से आगे नहीं बढ़ा पा रही है. नोटिस में लिखा है कि विष्णु की वजह से कोई भी चश्मदीद सामने आने को तैयार नहीं है. चश्मदीदों को लगता है कि विष्णु के खिलाफ गवाही देकर उनकी जान को खतरा हो सकता है.

दिल्ली पुलिस के एडिशनल डीसीपी विजय कुमार ने कहा है कि अगर विष्णु 25 फरवरी की सुबह 10 बजे, 10 हज़ार के बांड समेत हाज़िर नहीं होते हैं तो उन्हें दिल्ली पुलिस एक्ट की धारा 50 के तहत तड़ीपार करने की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी.

विष्णु गुप्ता को अब नरेंद्र मोदी पर भी भरोसा नहीं रहा. उनके मुताबिक उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे असली हिंदू हृदय सम्राट हैं

स नोटिस के बाद विष्णु गुप्ता भड़क गए हैं. उन्होंने कहा, 'केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस ने 'देशद्रोहियों' को खुली छूट दे रखी है. वे हर दिन सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं जबकि हिंदूवादी नेताओं को तड़ीपार किया जा रहा है.'

विष्णु गुप्ता को अब नरेंद्र मोदी पर भी भरोसा नहीं रहा. गुप्ता कहते हैं, 'विकास तो कांग्रेस सरकार में भी खूब हुआ था लेकिन हिंदूवादी छवि की वजह से नरेंद्र मोदी पीएम बने थे. अब उनका नया रूप सामने आ रहा है. मेरा नरेंद्र मोदी से भरोसा उठ गया है. जल्द से जल्द मैं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे से मिलने मुंबई जा रहा हूं. वही असली हिंदू हृदय सम्राट हैं.'


गुप्ता के कारनामें


विष्णु गुप्ता दिल्ली में तमाम हिंसक गतिविधियों के सूत्रधार रहे हैं. कुछ दिन पहले कश्मीरी नेता इंजीनियर राशिद के मुंह पर उसने स्याही फेंक दी थी. यह कार्यक्रम प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में चल रहा था. अबी हाल ही में विष्णु तब सुर्खियों में आया था जब उसने अपने कुछ समर्थकों के साथ कनॉट प्लेस स्थित पाकिस्तान एयरलाइन्स के दफ्तर में तोड़फोड़ की थी. उसका विरोध पठाननकोट हमले को लेकर था.
vishnu 2
विष्णु का नाम सबसे पहले सुर्खियों में पिछले साल आया था. तब उसने नई दिल्ली स्थित केरल भवन में बीफ की अफवाह पर वहां काम रुकवा दिया था और पुलिस बुला ली थी. पुलिस ने केरल भवन के कुछ कर्मचारियों को इस अफवाह के आरोप में हिरासत में ले लिया था.
First published: 19 February 2016, 14:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी