Home » इंडिया » Historic Victory for BJP in Assam, Sarbananda Sonowal will be Chief Minister
 

असम में पहली बार भाजपा सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

असम विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को ऐतिहासिक जीत हासिल हुई है. पहली बार राज्य में बीजेपी के नेतृत्व में सरकार बनने जा रही है. बीजेपी ने सर्बानंद सोनोवाल को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाकर चुनाव लड़ा था.

चुनाव में जीत के साथ ही पिछले 15 साल से राज्य की सत्ता पर कायम कांग्रेस को करारा झटका लगा है. तरुण गोगोई ने मुख्यमंत्री के रूप में तीन कार्यकाल पूरे किए थे, लेकिन इस बार गोगोई को हार नसीब हुई है. 

बीजेपी को दो तिहाई बहुमत


बीजेपी गठबंधन ने राज्य की 126 सीटों में से 89 पर विजयी बढ़त बना ली है. वहीं कांग्रेस को केवल 23 सीटों पर बढ़त मिली है. इसके अलावा बदरुद्दीन अजमल की ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) 12 सीटों पर आगे है.

बीजेपी को अपने गठबंधन के सहयोगियों के अच्छे प्रदर्शन का भी फायदा मिला है. हालांकि बीजेपी अपने दम पर 63 सीटों पर आगे है. बीजेपी ने असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ गठजोड़ बनाकर चुनाव लड़ा था.

असम गण परिषद के उम्मीदवार 14 सीटों पर जबकि बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट 12 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं. कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. उसके 27 उम्मीदवारों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में बढ़त मिली है. वहीं अन्य पांच सीटों पर आगे हैं. 

कांग्रेस को ज्यादा वोट


अगर वोट प्रतिशत की बात की जाए, तो चुनाव आयोग से खबर लिखे जाने तक मिले आंकड़े के मुताबिक बीजेपी को 30.1 फीसदी वोट हासिल हुए हैं. कांग्रेस के लिए राहत की बात केवल ये है कि उसे सबसे ज्यादा 31.1 फीसदी वोट मिले हैं. 

vote share 2

लेकिन सहयोगी पार्टियों को मिले वोटों की वजह से बीजेपी ने बहुमत का आंकड़ा आसानी से पार कर लिया. असम गण परिषद को 8.4 फीसदी और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट को 3.8 फीसदी वोट हासिल हुए हैं. इसके अलावा एआईयूडीएफ को 11.9 फीसदी वोट मिले हैं. वहीं अन्य को 11.3 फीसदी वोट मिले हैं.

सोनोवाल-हेमंत जीते


बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के दावेदार सर्बानंद सोनोवाल को माजुली सीट पर बड़ी जीत मिली है. सोनोवाल ने कांग्रेस के राजीब लोचन पेगू को मात दी है. वहीं जालुकबाड़ी से हेमंत बिस्व सर्मा ने बड़े अंतर से जीत हासिल की है.

हेमंत हाल ही में विधानसभा चुनाव से पहले अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे. राज्य में पहली बार बीजेपी की सरकार बनने के पीछे उनकी बड़ी भूमिका मानी जा रही है.

'हार की कांग्रेस जिम्मेदार'


वहीं मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने तीताबार सीट पर बीजेपी के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कामाख्या प्रसाद तासा को मात दी है.

इस बीच एआईयूडीएफ के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने हार के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है. अजमल ने कहा, "मैं बीजेपी को बधाई देना चाहता हूं. हम कांग्रेस की वजह से चुनाव हारे हैं."

पीएम ने बताया अद्भुत जीत


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके असम में बीजेपी की बड़ी जीत पर खुशी जाहिर की है. पीएम ने लिखा," असम बीजेपी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को अप्रत्याशित जीत के लिए दिल से बधाई. हर मापदंड से ये जीत ऐतिहासिक है. अद्भुत !

modi assam

पीएम ने बताया कि उन्होंने फोन पर असम में बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सर्बानंद सोनोवाल से भी बात की और जीत की बधाई दी. पीएम ने ट्विटर पर लिखा,"मैंने सर्बानंद सोनोवाल से बात की और उन्हें पार्टी के प्रदर्शन के साथ ही चुनाव अभियान में की कोशिशों के लिए बधाई दी."

modi assam 4

ट्विटर पर एक के बाद एक चार ट्वीट में प्रधानमंत्री ने आगे लिखा कि बीजेपी असम के लोगों के सपने और आकांक्षाओं को पूरा करने और राज्य को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने का हर संभव प्रयास करेगी.


modi assam 2

बीजेपी को मिले समर्थन पर प्रधानमंत्री ने आगे लिखा, "मैं असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, पुदुच्चेरी और केरल की जनता को समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं. मैं भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हम उनकी सेवा के लिए पूरी तत्परता से प्रयास करेंगे."

modi assam 3

'कांग्रेस को सबक'


बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने भी चुनाव परिणामों पर काफी खुशी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि असम में बीजेपी सरकार बना रही है. केरल में हमने खाता खोला है और पश्चिम बंगाल में हम मजबूती से आगे बढ़े हैं.

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने असम में बीजेपी की जीत को ऐतिहासिक बताया. बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने ट्वीट कर कहा कि लोकतंत्र की यह खूबसूरती है कि इसमें आखिरी व्यक्ति की ताकत सामने आती है. बड़े-बड़े नेता आम लोगों की कृपा पर निर्भर रहते हैं.

जीत के बाद राम माधव ने कहा कि यह विजय बीजेपी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और कांग्रेस के लिए एक सबक है.

First published: 19 May 2016, 3:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी