Home » इंडिया » Honey trap case: Delhi police file chargesheet against IAF officer arun marwaha
 

हनी ट्रैप केस: ISI को खुफिया जानकारी देने वाले एयरफोर्स ऑफिसर के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2018, 11:12 IST

7 फरवरी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह को खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया था. उन्हें पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को खुफिया जानकारी देने के शक में गिरफ्तार किया गया था. अब खबर है कि उनपर चार्जशीट दाखिल हो गई है.

पुलिस ने यह चार्जशीट 7 अप्रैल को दाखिल की है. चार्जशीट में पुलिस ने कहा कि मारवाह ने कुल 12 संवेदनशील डॉक्यूमेंट दो एजेंटों को शेयर किए हैं. इसमें वायु सेना की एक गगन शक्ति एक्सरसाइज और ह्यूमन एड डिजास्टर रिलीफ की भी जानकारी शामिल है. चार्जशीट में बताया गया कि यह दोनों जानकारियां अप्रैल 2018 में होने वाले एयरफोर्स के एक्सरसाइज का हिस्सा थीं.

 

चार्जशीट में कहा गया कि ग्रुप कैप्टन को पाकिस्तानी एजेंटों ने किरण रंधावा और महिमा पटेल की आईडी से फेसबुक पर संपर्क किया. उसके बाद से सारी बातें हुकअप पर होने लगी. पुलिस ने कहा कि एजेंटों और ग्रुप कैप्टन के बीच की बातचीत अंतरिम और उकसाने वाली हैं. ये एक हनी ट्रैप था जिसे ग्रुप कैप्टन ने अपने डिस्क्लोजर स्टेटमेंट में स्वीकार भी कर लिया है.

पढ़ें- 

पुलिस ने चार्जशीट में कहा कि मारवाह जॉइंट डायरेक्टर ऑपरेशन के पद पर तैनात थे और पाकिस्तान की ISI एजेंटों से हुकअप अप्लीकेशन के जरिए बातचीत करते थे. पुलिन ने बताया कि इसी पर सूचना शेयर की गई है. ये एक सुरक्षित एप्लीकेशन है, जिसमें लॉग आउट करने के बाद से सारी बातचीत अपने आप डिलीट हो जाती है.

पुलिस ने फेसबुक से संपर्क करके जो आईपी एड्रेस मांगी है वह दोनों आईडी पाकिस्तान से चलाई जा रही थी. मारवाह इन दोनों एजेंटों से पिछले साल 7 दिसंबर से बात कर रहा है. शक होने पर पहले आर्मी इंटेलिजेंस ने उसे डिटेन किया. इसके बाद जासूसी का सबूत मिलने पर उसे दिल्ली पुलिस को सौंप दिया. मारवाह पर ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

First published: 11 April 2018, 11:12 IST
 
अगली कहानी