Home » इंडिया » How will Kamlnath fulfill the promise of farmers 2 lakh crore debt on MP government
 

अगर कमलनाथ ने कर दिया किसानों का कर्जामाफ, तो बर्बाद हो जाएगी मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 December 2018, 12:12 IST

मध्य प्रदेश में चुनाव के बाद कमलनाथ कांग्रेस की तरफ से सीएम बने हैं. कांग्रेस ने चुनाव से पहले वचन पत्र जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि सरकार बनते ही 10 दिन के भीतर किसानों के कर्ज माफ कर दिए जाएंगे. हालांकि जब अब सरकार बन गई है तो कांग्रेस के सामने सबसे बड़ी मुश्किल आन खड़ी हुई है.

बता दें कि मध्य प्रदेश पहले से ही पौने दो लाख करोड़ के कर्ज से डूबा पड़ा है. वहीं किसानों का 65,000 करोड़ का कर्ज है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस को चुनाव के दौरान किए गए वादे को याद दिलाते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था, लिहाजा उन्हें अपना वचन पूरा करना चाहिए.

पढ़ें- जब सचिन पायलट के लिए घर से भाग आई थीं कश्मीर के मुख्यमंत्री की खूबसूरत बेटी और फिर...

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, किसानों का कर्ज माफ करने के लिए रोड मैप बनाने की जिम्मेदारी पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम पर है. चिदंबरम रास्ता खोज रहे है, जिससे किसानों का कर्ज माफ भी हो जाए और कांग्रेस की साख भी बनी रहे.

पढ़ें- राजस्थान: 'पायलट' का प्लान हुआ क्रैश, गहलोत फिर से बने मुख्यमंंत्री

कांग्रेस की चिंता आगामी लोकसभा चुनाव है. किसानों की कर्ज माफी चुनावी मुद्दा बनने वाला है. अगर वादे पूरे नहीं हुए तो कांग्रेस के लिए लोकसभा चुनाव में बड़ी मुश्किल आने वाली है. वहीं अगर किसानों का कर्जा माफ कर दिया जाता है तो मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था को बडा़ झटका लगने वाला है.

First published: 15 December 2018, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी