Home » इंडिया » hrd committee report clean, rohit was not dalit
 

रोहित वेमुला नहीं थे दलित, एचआरडी मंत्रालय की पैनल रिपोर्ट में दावा!

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 August 2016, 11:01 IST
(कैच)

हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के सुसाइड करने वाले दलित छात्र रोहित वेमुला के मामले में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा गठित एक सदस्यीय जांच पैनल ने यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) को अपनी रिपोर्ट सौंपी है.

खबरों के मुताबिक जांच के लिए गठित जस्टिस (रिटायर्ड) एके रूपनवल आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि रोहित वेमुला दलित नहीं थे.

रूपनवल कमेटी की रिपोर्ट सौंपे जाने पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "यह रिपोर्ट पहले यूजीसी के पास जाएगी, उसके बाद मंत्रालय आएगी."

गौरतलब है कि पूर्व एचआरडी मंत्री स्मृति ईरानी ने रोहिता वेमुला के मामले में एक सदस्यीय पैनल का गठन किया था. इससे पहले केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और थावरचंद गहलोत ने सबसे पहले इस बात का दावा किया था कि रोहित दलित नहीं थे.

मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने दावे में कहा था कि रोहित वडेरा समुदाय से संबंध रखते हैं, जो कि अन्य पिछड़ा वर्ग के अंतर्गत आते हैं. विदेश मंत्री के इस दावे के अलावा बीजेपी शुरू से ही विपक्षी दलों पर आरोप लगाती रही है कि वह पूरे मामले में दलित शब्द का इसलिए प्रचार कर रहे हैं, क्योंकि इसका राजनीतिक फायदा उठाना चाहते हैं. 

शोध छात्र रोहित के सुसाइड के मामले में हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर अप्पा राव और केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत केस भी दर्ज किया गया है.

First published: 24 August 2016, 11:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी