Home » इंडिया » Hyd vet rape case: Top cop Sajjanar had led a similar encounter in Warangal in 2008
 

हैदराबाद रेप केस: पुलिस कमिश्नर सज्जनार 2008 में भी कर चुके हैं ऐसा एनकाउंटर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 December 2019, 11:52 IST

Hyderabad Gangrape: हैदराबाद में महिला डॉक्टर (Lady Veterinary Doctor) रेप और हत्या के सभी चार अभियुक्तों को तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार तड़के एनकाउंटर में मार दिया. पुलिस ने कहा कि चारों आरोपियों को छत्तापल्ली ले जाया गया था, जहां उन्होंने महिला को जलाया था. पुलिस का कहना है कि वह भागने की कोशिश कर रहे थे, जब उनका एनकाउंटर किया गया. तेलंगाना में यह दूसरी ऐसी मुठभेड़ है, जिसमें महिलाओं के खिलाफ अपराध के आरोपियों का एनकाउंटर किया गया.

दिसंबर 2008 में वारंगल पुलिस द्वारा एसिड हमले के तीन आरोपियों को मार दिया गया था, जब उन्होंने अपराध स्थल पर पुलिस पर हमला करने की कोशिश की थी. हैदराबाद पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि आरीफ, शिवा, नवीन और चेन्नकेशवुलु ने भी भागने की कोशिश की थी.  तेलंगाना में ग्यारह साल पहले वारंगल में भी एक ऐसी ही कथित मुठभेड़ हुई थी. उस मुठभेड़ में भी वर्तमान पुलिस अधीक्षक साइबराबाद वीसी सज्जनार ने अहम रोल निभाया था. हैदराबाद बलात्कार मामले को भी सज्ज्नार ही देख रहे थे.

सज्जनार का नाम पहले भी कई बड़े एनकाउंटर में आया है. न्यूज़ वेबसाइट न्यूज़ मिनट के अनुसार दिसंबर 2008 में आंध्र प्रदेश पुलिस ने दो महिला इंजीनियरिंग छात्रों पर एसिड फेंकने के आरोपी तीन लोगों को मार गिराया था. स्वप्निका और श्रीनिधि पर वारंगल शहर के हमला किया गया था, जब स्वप्निका ने अभियुक्तों में से एक श्रीनिवास के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया था. इस मामले के मुख्य आरोपी 25 वर्षीय श्रीनिवास राव और उसके सहयोगी पी. हरिकृष्णा (24) और बी संजय (22) मुठभेड़ में मारे गए थे.

शुक्रवार की कथित मुठभेड़ के समान तत्कालीन एसपी ने कहा कि पुलिस की एक टीम सबूत जुटाने के लिए अपराधियों के साथ घटना स्थल पर गई थी. तब आरोपियों ने कथित तौर पर पुलिस पर हमला करने की कोशिश की. सज्जनार ने कहा था कि पुलिस ने आत्मरक्षा में गोलियां चलाईं, जिससे तीनों आरोपी मारे गए. उस समय तक एक लो प्रोफाइल पुलिस वाले सज्जनर ने उस समय 'एनकाउंटर कॉप' का तगमा हासिल किया था. तब लड़की पर हमले के आरोपियों को 48 घंटे के भीतर गिरफ्तार किया गया. जबकि एक दिन में एनकाउंटर किया गया था.

उस वक्त आरोपियों और कार्यकर्ताओं ने मुठभेड़ पर सवाल उठाया था, लेकिन सज्जनर स्थानीय नायक बन गया. एक रिपोर्ट के अनुसार उस वक्त कॉलेज के छात्रों ने मिठाई बांटी और पटाखे फोड़े थे. दो पीड़ितों प्रणिता और स्वप्निका और उनके परिवारों ने भी मुठभेड़ का स्वागत किया था. उस वक्त मुख्यमंत्री कांग्रेस (दिवंगत) वाईएस राजशेखर रेड्डी थे.

हैदराबाद गैंगरेप आरोपियों के एनकाउंटर पर पीड़िता के पिता बोले- मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिली

First published: 6 December 2019, 11:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी