Home » इंडिया » IAF AN 32 Six bodies and seven mortals remains recovered from the crash site in Arunachal Pradesh
 

IAF AN-32 विमान क्रैश: वायुसेना के सभी 13 जवानों के शव मिले, खराब मौसम की वजह से हुई परेशानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2019, 12:31 IST

अरुणाचल प्रदेश में क्रैश हुए भारतीय वायुसेना के विमान एएन-32 का खोजी दल को मलवा मिल गया है. वायुसेना ने गुरुवार को घोषणा की विमान में सवार वायुसेना के सभी 13 सैनिकों के शव बरामद कर लिए गए हैं. एक सप्ताह पहले ही वायुसेना ने घोषणा की थी कि उसने विमान के वायस रिकॉर्डर और डाटा रिकॉर्डर को बरामद किया है. जिसे आमतौर पर ब्लैक बॉक्स के रूप में जाना जाता है.

बता दें कि रूस निर्मित भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान 3 जून को असम के जोरहाट एयरफोर्स स्टेशन के उड़ान भरने के महज 30 मिनट बाद अरुणाचल प्रदेश के मेचुका इलाके में गायब हो गया था. आठ दिनों की कड़ी खोजबीन के बाद खोजी दल में शामिल एमआई-17 को विमान का मलवा दिखाई दिया था. भारतीय वायुसेना के खोजी दल में शामिल वायुसेना के चोपर से 12 हजार फुट की ऊंचाई से एएन-32 का मलवा सिआंग और शि-योमी जिले के बॉर्डर पर स्थित गिट्टे गांव के पास दिखाई दिया था.

वायुसेना ने बताया है कि खोजी दल को 6 शव और 7 जवानों के अवशेष मिले है. दुर्घटना वाला घने जंगलों के बीच होने की वजह से सर्च अभियान में काफी वक्त लगा. वायुसेना के अधिकारियों के अनुसार, भारी बारिश और अन्य कारणों से कोई हेलिकाप्टर उड़ान नहीं भर पा रहा था. राहत व बचाव दल ने मौके से कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और उड़ान डेटा रिकॉर्डर (एफडीआर) पहले ही बरामद कर लिया था.

 

इस हादसे में मारे गए 13 लोगों में 6 अधिकारी और 7 एयरमैन शामिल हैं. मारे गए लोगों में विंग कमांडर जीएम चार्ल्‍स, स्क्वाड्रन लीडर एच विनोद, फ्लाइट लेफ्टिनेंट आर थापा, फ्लाइट लेफ्टिनेंट ए तंवर, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस मोहंती और फ्लाइट लेफ्टिनेंट एमके गर्ग, वॉरंट ऑफिसर केके मिश्रा, सार्जेंट अनूप कुमार, कोरपोरल शेरिन, लीड एयरक्राफ्ट मैन एसके सिंह, लीड एयरक्राफ्ट मैन पंकज, गैर लड़ाकू कर्मचारी पुतली और राजेश कुमार शामिल हैं.

First published: 20 June 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी