Home » इंडिया » IAF Mi 17 Chopper crash Martyr corporal Deepak Pandey’s last facebook reveil Zindagi Se Koi Sikwa Nhi
 

वायुसेना के Mi-17 चॉपर क्रैश में शहीद पायलट का आखिरी फेसबुक पोस्ट आया सामने

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2019, 12:11 IST

बुधवार को वायुसेना का Mi-17 मालवाहक चॉपर जम्मू-कश्मीर के बडगाम में क्रैश हो गया था. इस हादसे में वायुसेना के पायलट दीपक पांडेय शहीर हो गए. कारपोलर दीपक पांडेय उत्तर प्रदेश के कानपुर के रहने वाले थे. इस हादसे में उनके साथ मथुरा के कारपोरल पंकज कुमार भी शहीद हो गए. हादसे के बाद कारपोलर दीपक पांडेय का एक फेसबुक पोस्ट सामने आया है. फेसबुक पर उनकी ये आखिरी पोस्ट कई मायनों में खास है. क्योंकि जब शहीद दीपक ने इस पोस्ट को फेसबुक पर शेयर किया होगा तब शायद उन्हें भी पता नहीं होगा कि ये उनकी आखिरी पोस्ट होगी. जो उन्होंने देश को समर्पित की थी.

शहीद पायलट दीपक पांडेय ने 19 नवंबर 2018 को दोपहर 12:21 बजे फेसबुक पर लिखा था, "जिंदगी से कोई शिकवा भी नहीं है...” उनकी इस पोस्ट पर उनके दोस्तों ने अलग-अलग प्रतिक्रिया दी थी. लेकिन जब उनकी शहादत की खबर उनके दोस्तों को मिली तो उनकी इस फेसबुक पोस्ट की पक्तियों ने उन्हें झकझोर कर रख दिया.


दीपक की इस फेसबुक पोस्ट पर उनके दोस्त धर्मेंद्र पाल ने लिखा कब से, तो दीपक ने जवाब देते हुए कहा, जम्मू श्रीनगर में पोस्टिंग के बाद से. वहीं दिव्या तिवारी ने लिखा, मेरे होते हुए यह हिम्मत किसने की. दीपक ने इस पर बड़ी शालीनता से जवाब देते हुए सिर्फ हा...हा...हा लिखा था. दीपक के दोस्त अभिषेक शर्मा ने लिखा, आज फिर से पांडेय... दीपक अभिषेक के कमेंट को सिर्फ लाइक किया था.

शुभम द्विवेदी ने लिखा था, भाई मिस यू जय हिंद सलाम है आपको भाई.. आदित्य सिंह ने लिखा कि तब तो आप रजनीकांत हो गए हैं... मोहम्मद अरमान खान ने कमेंट करते हुए लिखा कि भाई दीपक मिस यू यार मिस यू ए लॉट तुम कहां अकेले चले गए.

बता दें कि उनकी इस पोस्ट पर उनके कई और भी दोस्तों ने कमेंट्स किए थे. लेकिन जब दोस्त की शहादत की खबर मिली तो दीपक के सब दोस्त उनके घर पहुंचे. जहां अचानक फेसबुक की यही पोस्ट सब के दिमाग में कौंध गई.

बता दें कि बुधवार को कश्मीर के बड़गाम में वायुसेना का एमआइ-17 चॉपर क्रैश हो गया था. जिसमें कारपोरल दीपक पांडेय शहीद हो गए. वह कानपुर के चकेरी क्षेत्र के मंगला विहार के रहने वाले थे. परिवार के इस इकलौते लाल की शहादत की खबर जैसे ही कानपुर उनके घर पहुंची, तो कोहराम मच गया. उनके पिता राम प्रकाश पांडेय निजी नौकरी से सेवानिवृत्त हो चुके हैं.

दीपक के अलावा इस हादसे में मथुरा के पंकज कुमार सिंह भी शहीद हुए हैं. बुधवार दोपहर करीब एक बजे दीपक के पिता रामप्रकाश पांडेय को श्रीनगर एयरबेस से एक फोन आया, जिसमें उन्हें बताया गया कि एमआइ-17 चॉपर क्रैश हो गया है, जिसमें उनके बेटे दीपक भी सवार थेय इस हादसे में उनकी मौत हो गई है. इकलौते बेटे के निधन की खबर सुनकर घर में कोहराम मच गया. परिजनों ने बताया कि दीपक पांच साल पहले ही भारतीय वायु सेना में शामिल हुए थे और इनदिनों उनकी तैनाती श्रीनगर एयरबेस में थी.

जम्मू-कश्मीर के बडगाम में वायुसेना का Mi-17 विमान क्रैश, दोनों पायलट शहीद

First published: 28 February 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी