आईएएस टॉपर टीना डाबी को नहीं मिला मनचाहा कैडर

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2016, 13:11 IST
(पीटीआई)

यूपीएससी (संघ लोकसेवा आयोग) परीक्षा की टॉपर टीना डाबी को डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (डीओपीटी) ने मनचाहा कैडर देने से इनकार कर दिया है. डीओपीटी की ओर से जारी लिस्ट के मुताबिक टीना को राजस्थान कैडर मिला है, जबकि उन्होंने हरियाणा कैडर की मांग की थी.

टीना ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की चयन प्रक्रिया के दौरान चयन वरीयता के वक्त हरियाणा कैडर की मांग की थी.

टीना के मुताबिक, ''मैंने हरियाणा इसलिए चुना, क्योंकि वहां का उदाहरण इंटरेस्टिंग है. वहां इकोनॉमिक प्रोग्रेस काफी हुई है, लेकिन जब बात सोशल इंडीकेटर्स की आती है तो हरियाणा पिछड़ जाता है.''

उन्होंने कहा, ''हरियाणा जेंडर इनइक्वलिटी के चलते पिछड़ जाता है. यह ऐसा मुद्दा है जो मेरे दिल के करीब है. मैं बराबरी चाहती हू. मैं एक प्रोग्रेसिव फैमिली की महिला हूं और महिला-पुरुष के बीच बराबरी को बढ़ावा देने वाले कॉलेज से पढ़ी हूं, तो हरियाणा की महिलाओं के लिए भी कुछ करना चाहती हूं.''

वहीं इस मामले में डीओपीटी से जानकारी के मुताबिक टीना डाबी को उनका मनचाहा कैडर इसलिए नहीं मिल पाया क्योंकि हरियाणा में सिर्फ दो ही जगहें रिक्त थीं और वो दोनों जगहें एसटी कैंडिडेट्स के लिए आरक्षित थीं जबकि टीना एससी कैटेगरी में आती हैं.

डीओपीटी में प्रचलन के मुताबिक टॉपर्स को उनका मनपसंद कैडर दिया जाता है. वहीं इन मामलों के जानकारों का कहना है कि कैडर का एलोकेशन सिर्फ कैंडिडेट्स के रैंक पर डिपेंड नहीं करता है. ऐसा तभी हो सकता है जब उस प्रदेश में कोई जगह रिक्त हो.

First published: 27 July 2016, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी