Home » इंडिया » ICMR disclosure: 40 crore people still at risk of getting infected with corona virus in the country
 

ICMR का खुलासा : देश में अब भी 40 करोड़ लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2021, 8:51 IST
(ANI)

 

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा किए गए नवीनतम राष्ट्रव्यापी सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण में पाया गया है कि छह साल से अधिक उम्र की दो-तिहाई भारतीय आबादी पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुकी है. कहा गया है कि अभी भी लगभग 40 करोड़ लोगों कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा है. जून और जुलाई में आयोजित किया गया यह चौथा सीरो सर्वे था. इस दौरान दूसरी लहर कम होने लगी थी.

SARS-CoV2 वायरस के लिए विशिष्ट एंटीबॉडी की उपस्थिति के लिए कुल 28,975 लोगों का परीक्षण किया गया और 67.6 फीसदी में यह पाया गया. पहली बार 6 से 17 वर्ष के आयु वर्ग वालों को भी सीरो सर्वे में शामिल किया गया था, जिनमें से लगभग आधे में एंटीबॉडी की खोज की गई थी.


इस साल दिसंबर 2020- जनवरी में किए गए तीसरे सीरोसर्वे में आबादी के 25 फीसदी से कम में एंटीबॉडी पाए गए. पिछले साल मई से जून के बीच किए गए पहले सर्वे में करीब 0.7 फीसदी लोगों में ही एंटीबॉडीज पाए गए थे. अगस्त और सितंबर में एक बाद के अभ्यास में 7.1 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी पाए गए थे.
नीति आयोग के वी. के. पॉल ने कहा ''चौथे सीरो सर्वे में हमने पाया कि जून-जुलाई महीने में 67-68 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी मिले जिसमें वैक्सीनेटिड लोग भी शामिल हैं. इसका मतलब अभी भी लगभग 40 करोड़ लोगों में एंटीबॉडी नहीं है, जिससे उनके संक्रमित होने की संभावना ज़्यादा है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना वायरस वैक्सीनेशन का आंकड़ा 41.52 करोड़ (41,52,25,632) के पार पहुंच गया है. कल शाम 7 बजे तक कोरोना वायरस वैक्सीन की 31.79 (31,79,469) लाख से ज़्यादा डोज़ लगाई जा चुकी हैं.

कोविड की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी भी मौत की सूचना नहीं- केंद्र

First published: 21 July 2021, 8:51 IST
 
अगली कहानी