Home » इंडिया » If Narendra Modi is the prime minister of any other country he must resign says Manmohan Singh
 

'नरेंद्र मोदी किसी और देश के प्रधानमंत्री होते तो देना पड़ जाता इस्तीफा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 September 2018, 8:32 IST

पीएम मोदी पर नोटबंदी को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नोटबंदी को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल की किताब ‘शेड्स ऑफ ट्रुथ’ के विमोचन के मौके पर उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने जो वादे किए थे उनमें से एक भी पूरा नहीं किया.

बेरोजगारी को लेकर उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन देश के युवा आज भी नौकरी का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी दर पिछले चार साल में बढ़ी है, लेकिन मोदी सरकार गलत आंकड़े पेश कर रही है. देश में कृषि की स्थिति बदहाल है और औद्योगिक उत्पादन एवं विकास की रफ्तार थम गई है.

पढ़ें- सवर्णों ने किया भारत बंद तो बसपा अध्यक्ष मायावती ने दिया ये बड़ा बयान

पूर्व पीएम ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी पीएम मोदी के फैसले को भी कठघरे में खड़ा किया. मोदी सरकार में किसान और नौजवान परेशान हैं. दलितों एवं अल्पसंख्यको में असुरक्षा का माहौल है. देश में कृषि संकट है. किसान परेशान हैं और आंदोलन कर रहे हैं. युवा दो करोड़ रुपये नौकरियों का इंतजार कर रहे हैं.' उन्होंने आरोप लगाया कि औद्योगिक उत्पादन और प्रगति थम गई है.

पढ़ें- राहुल गांधी के कैलाश मानसरोवर यात्रा पर उठ रहे थे सवाल, वीडियो जारी कर दिया जवाब

वहीं कपिल सिब्बल ने कहा कि जीएसटी को हड़बड़ाहट में लागू कर दिया गया. इससे व्‍यापारियों को नुकसान हुआ. सिब्‍बल ने तंज करते हुए कहा, "महान नेता ने 2014 के बाद हमें नोटबंदी दी जिससे 1.5 प्रतिशत जीडीपी का नुकसान हुआ. यदि कोई और देश होता तो उन्‍हें इस्‍तीफा देना पड़ता."

First published: 8 September 2018, 8:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी