Home » इंडिया » IIT-Roorkee takes back 18 expelled students
 

आईआईटी रुड़की से निकाले गए 18 छात्रों का निष्कासन रद्द

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:48 IST

आईआईटी रुड़की ने संस्थान से निकाले गए सभी 18 छात्रों को वापस दाखिला दे दिया है. पहले सेमेस्टर में खराब परिणाम के चलते इन्हें संस्थान से बाहर निकाल दिया गया था. इनमें ज्यादातर छात्र आरक्षित वर्ग से हैं. माना जा रहा है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय के दखल के बाद आईआईटी प्रशासन ने वापसी का फैसला लिया.

आईआईटी रुड़की के डीन प्रमोद अग्रवाल ने बताया कि निकाले गए सभी छात्रों को एक और मौका दिया गया है. उन्हें पहले वर्ष में फिर से दाखिला दिया गया है. रजिस्ट्रार प्रशांत गर्ग का कहना है कि ये सभी आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से हैं.  

वापस लिए गए सभी छात्र संस्थान के फैसले से खुश हैं. इनमें से एक छात्र ने कहा कि मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि हमें पढ़ने का मौका दिया जा रहा है. हम सभी लिखित फैसले का इंतजार कर रहे हैं. अन्य छात्र ने कहा कि हम इस निर्णय को सही साबित करेंगे और दोबारा से आईआईटी को निराश नहीं करेंगे.  

इससे पहले भी इस साल के शुरू में 72 छात्रों को खराब प्रदर्शन के कारण निकाल दिया गया था. यह मामला कोर्ट में भी पहुंचा था. हालांकि बाद में संस्थान ने सभी 72 छात्रों को निकालने का अपना निर्णय रद्द कर दिया. 

आपको बता दें कि आईआईटी में दाखिला लेते वक्त छात्रों को एक शपथ-पत्र पर हस्ताक्षर कराए जाते हैं. इसमें लिखा होता है कि अगर पांच सीजीपीए से कम स्कोर होता है तो उसे संस्थान निकाल सकता है. इसी शपथ-पत्र के आधार पर कार्रवाई की जाती है. 

First published: 12 August 2016, 5:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी