Home » इंडिया » in azamgarh: mulayam singh yadav cancel his public meeting
 

आजमगढ़ में अमर सिंह का पुतला फूंके जाने के बाद मुलायम ने स्थगित की जनसभा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:25 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार के परिवार में सत्ता संग्राम इतना भवायह हो गया है कि पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव  ने 6 अक्तूबर को आजमगढ़ की अपनी प्रस्तावित रैली स्थगित कर दी है.

इस रैली के जरिये सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव को विधानसभा चुनाव अभियान का आगाज करना था, लेकिन पार्टी वर्कर्स के बगावती तेवर से मुलायम सिंह बैकफुट पर आ गए हैं.

सपा सूत्रों के मुताबिक आजमगढ़ की रैली के जरिये मुलायम सिंह यादव को चुनावी अभियान का आगाज करना था, जिसके लिए कई दौर की बैठक हुई. हमेशा की तरह मंत्री बलराम यादव को रैली का जिम्मा सौंपा गया था.

12 सितंबर से समाजवादी परिवार में सत्ता का सियासी संग्राम शुरू हो गया, जिस पर विराम लगने के बाद गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने रैली की तैयारियों की समीक्षा और उसकी जानकारी भी मुख्यमंत्री को उपलब्ध कराई गई थी.

इस बीच आजमगढ़ के एक मशहूर कॉलेज के कुछ छात्रों ने पुराने कलेक्ट्रेट के पास नवनियुक्त महासचिव अमर सिंह का पुतला फूंका और उनके विरोध में नारेबाजी भी की.

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने इस बात की जानकारी मुलायम सिंह यादव को दी. सूत्रों का कहना है कि पुतला फूंके जाने से नाराज मुलायम ने शनिवार को प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव और रैली के प्रभारी मंत्री बलराम यादव से प्रकरण का ब्योरा मांगा.

पार्टी नेताओं के द्वारा उन्हें बताया गया कि कुछ छात्रों ने अमर सिंह का पुतला फूंका है, मगर वे पार्टी के कार्यकर्ता नहीं थे, लेकिन इसके बावजूद भी मुलायम सिंह ने रैली स्थगित करने का आदेश दे दिया.

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी को आजमगढ़ से रैली शुरू करना रास आता रहा है, यही वजह है कि पार्टी मुखिया चुनावी अभियान यहीं से शुरू करना पंसद करते रहे हैं.

First published: 25 September 2016, 5:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी