Home » इंडिया » in gujarat: dalit family beaten for deny to throwing cow skeleton
 

गुजरात में पशु कंकाल फेंकने से इनकार, दलित परिवार की पिटाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:25 IST
(एजेंसी)

गुजरात में ऊना के बाद अब बनासकांठा जिले के करजा गांव में एक दलित परिवार की पिटाई का मामला सामने आया है.

बताया जा रहा है कि इस बर्बर पिटाई में एक गर्भवती महिला भी शिकार हुई है. खबरों के मुताबिक इलाके के दबंग लोगों द्वारा पीड़ित महिला की उसके परिजनों समेत उस समय कथित तौर पर बुरी तरह से पिटाई की गई, जब उन्होंने एक गाय के कंकाल को फेंकने से इनकार कर दिया.

इस मामले में बनासकांठा पुलिस ने शनिवार को बताया कि इस सिलसिले में आईपीसी और एससी-एसटी (उत्पीड़न रोकथाम) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

निलेश रनवासिया की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी के मुताबिक, दरबार समुदाय के करीब 10 लोगों ने शुक्रवार रात उसकी गर्भवती पत्नी सहित उसके पूरे परिवार की उस वक्त पिटाई की, जब उन्होंने गाय के शव को फेंकने से मना कर दिया.

गर्भवती महिला और दो अन्य औरतों सहित छह लोग पिटाई की वजह से घायल हुए हैं. गर्भवती महिला को पालनपुर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जबकि मामूली तौर पर जख्मी हुए निलेश एवं अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक नीरज बड़गूजर ने कहा कि पुलिस तुरंत गांव में पहुंची और कुछ ही घंटों के भीतर छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया.

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान बतावर सिंह चौहान (26), मकनुसिंह चौहान (21), योगीसिंह चौहान (25), बावरसिंह चौहान (45), दिलवीर सिंह चौहान (23) और नरेंद्र सिंह चौहान (23) के तौर पर की गई है. बड़गूजर ने कहा कि गांव में तनाव बढ़ने के कारण पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है और गश्त भी बढ़ा दी है.

First published: 25 September 2016, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी