Home » इंडिया » In hyderabad jain girl died after 68 days fast
 

हैदराबाद में जैन लड़की ने उपवास के 68 दिन बाद दम तोड़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 October 2016, 14:04 IST
(एजेंसी)

जैन धर्म की मान्यता के मुताबिक उपवास रखने के कारण एक 13 साल की लड़की की हैदराबाद में मौत हो गई. बताया जा रहा है कि जैन कर्मकांड के मुताबिक वह पिछले 68 दिनों से उपवास पर थी.

समाचार चैनल एनडीटीवी के मुताबिक, आराधना नाम की लड़की ने जैन धर्म के ‘चौमासा’ नाम की पवित्र अवधि में व्रत रखा था. आराधना 8वीं क्लास में पढ़ती थी. उसे दो दिन पहले ही व्रत खत्म होने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. जहां दिल की धड़कन रुकने से उसकी मौत हो गई.

आराधना की मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार में लगभग 600 लोग शामिल हुए थे. उस लड़की को लोगों ने ‘बाल तपस्वी’ का नाम दिया है. वहीं उसकी अंतिम यात्र को ‘शोभा यात्रा’ का नाम दिया गया था.

सूचना के मुताबिक आराधना का परिवार का गहनों के व्यवसाय से जुड़ा है. आराधना की मौत के बाद दुखी कई लोगों ने उसके परिवार से यह सवाल भी उठाया कि उन्होंने आराधना की पढ़ाई छुड़वाकर उपवास पर क्यों बैठाया.

इस मामले में जैन समुदाय के कुछ लोग भी खिलाफ नजर आ रहे हैं. ऐसे लोगों का कहना है कि इतनी छोटी बच्ची से ऐसा व्रत नहीं करवाना चाहिए था.

जैन धर्म से संबंध रखने वालीं लता जैन ने कहा, "इस गंभीर तपस्या को करने के लिए काफी प्रैक्टिस की जरूरत होती है. व्रत पूरा होने पर धार्मिक गुरुओं द्वारा सम्मान मिलता है, लेकिन इस मामले में लड़की नाबालिग थी. इसी को लेकर मेरा विरोध है. अगर यह मर्डर नहीं है तो सुसाइड है."

बताया जा रहा है कि आराधना का व्रत पूरा होने पर अखबारों में भी तस्वीर छपी थी. जिनमें यह भी दिखाया गया था कि तेलंगाना के मंत्री पद्म राव गौड़ व्रत पूरा होने पर रखे गए कार्यक्रम में पहुंचे थे. फिलहाल बच्चों के अधिकारों के लिए लड़ने वाला एक संगठन पुलिस में केस दर्ज करवाने की बात कह रहा है.

First published: 8 October 2016, 14:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी