Home » इंडिया » In india: e warranty will start soon
 

जल्द ही सामान खरीदने पर मिलेगी गारंटी-वारंटी कार्ड से आजादी

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2016, 17:15 IST

खरीदारी करने वाले ग्राहकों के लिए एक राहत की खबर आ है. सरकार जल्दी ही ऐसी व्यवस्था करने जा रही है, जिसमें ग्राहकों को खरीदारी के साथ मिलने वाले गारंटी-वारंटी कार्ड से मुक्ति मिल सकेगी.

पहले सामान के साथ मिलने वाले गारंटी-वारंटी कार्ड को बहुत ही सहेज कर रखने की जरूरत होती थी और उनके गुम हो जाने पर या फिर नष्ट हो जाने पर कंपनियां अपने गारंटी-वारंटी के वादे से मुकर भी जाती थीं. ऐसे मामले में ग्राहकों को सारी परेशानी झेलनी पड़ती थी. लेकिन जल्द ही कार, टू व्हीलर, टीवी, फ्रिज या वाशिंग मशीन या फिर घरेलू सामानों के खरीदने के बाद गारंटी-वारंटी कार्ड रखने की जरूरत नहीं होगी.

मोदी सरकार जल्द ही अमेरिका की तरह यहां भी ई-गारंटी-वारंटी व्यवस्था की शुरुआत करने जा रही है. सरकार ऐसी व्यवस्था लागू करने की जा रही है जिसमें गारंटी-वारंटी से जुड़ी तमाम जानकारी को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रखने की जिम्मेदारी उसी कम्पनी की होगी और वह कंपनी उसके आधार पर ग्राहकों को सुविधा मुहैया कराएगी.

इस संबंध में संसद में विचाराधीन उपभोक्ता संरक्षण बिल 2015 के पास होने के बाद इसका रास्ता साफ हो जाएगा. इस मामले में उफभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने जानकारी देते हुए बताया कि इस प्रस्ताव के बारे में विश्व उपभोक्ता दिवस पर सरकार और उद्योग जगत के बीच हुई बैठक में विस्तार से चर्चा हुई थी.

इसके अलावा बैठक में इस बात पर भी सहमति बनी कि खाद्य पदार्थों में एंटी बायोटिक्स के इस्तेमाल पर रोक लगेगी. भारतीय बाजार में सब्जियों का आकार बढ़ाने के लिए एंटी बायोटिक्स का प्रयोग किया जाता है. इसी तरह गाय या भैंस के ज्यादा दोहन के लिए एंटी बायोटिक्स इंजेक्शन का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है.

सरकार का मानना है कि इस तरह के खाद्य पदार्थों से सेहत को भारी नुकसान पहुंचता है.इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री पासवान ने कहा कि एंटीबायोटिक दवाओं के दुष्प्रभाव को देखते हुए इससे तैयार खाद्य पदार्थों के बहिष्कार की अपील की.

पासवान ने कहा कि जंक फूड के संबंध में कहा कि भारतीय बाजार में बिकने वाले सभी तरह के जंक फूड पर यह दर्ज होना चाहिए कि यह सेहत के लिए लाभकारी है या हानिकारक.

First published: 23 March 2016, 17:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी