Home » इंडिया » in j&k: now you need a license to create a whatsapp group
 

हंदवाड़ा हिंसा: जम्मू-कश्मीर में अब व्हाट्स एप ग्रुप के लिए लाइसेंस जरूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 April 2016, 17:06 IST
हंदवाड़ा हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर नकेल कसने के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने नया कदम उठाया है. सरकार ने एक आदेश जारी किया है. अब व्हाट्स एप न्यूज ग्रुप के लिए जिला प्रशासन से लाइसेंस लेना होगा.

सोशल मीडिया पर अफवाहों को रोकने के लिए राज्य सरकार ने ये फैसला लिया है. सभी व्हाट्स एप ग्रुप को जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय में पंजीकरण करवाने के आदेश जारी किए हैं.

10 दिन में रजिस्ट्रेशन जरूरी

18 अप्रैल को जारी सर्कुलर के मुताबिक मौजूदा व्हाट्स एप न्यूज ग्रुप को 10 दिन के अंदर रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

उनके ग्रुप में जो भी सूचना या खबर जारी होगी अगर उससे कोई अव्यवस्था फैलती है तो संबंधित ग्रुप के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

पढ़ें: हंदवाड़ा हिंसा: केंद्र भेजेगा 3,600 अतिरिक्त सुरक्षाबल

आदेश के अनुसार ग्रुप पर पोस्ट किए गए कंटेंट के लिए ग्रुप एडमिन पूरी तरह से जिम्मेदार होगा. अगर ऐसा लगता है कि व्हाट्स एप पर सरकार के नियमों का उल्लंघन हो रहा है तो कड़ी कार्रवाई होगी.

अतिरिक्त सूचना अधिकारी करेंगे निगरानी

इसकी निगरानी अतिरिक्त सूचना अधिकारी करेंगे और अगर कुछ आपत्तिजनक सामग्री मिलती है तो संबंधित क्षेत्र के जिला अधिकारियों को इसकी सूचना दी जाएगी.

सर्कुलर में सरकारी कर्मचारियों को सख्त निर्देश जारी किया गया है कि कि सरकार की नीतियों को लेकर वो कोई भी पोस्ट या टिप्पणी व्हाट्स एप पर ना शेयर करें. ऐसा करने पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है.

पढ़ें: हंदवाड़ा में फिर लगा कर्फ्यू, इंटरनेट-मोबाइल सेवा बहाल

जम्मू-कश्मीर पुलिस का मानना है कि हंदवाड़ा की घटना के बाद से घाटी का माहौल बिगाड़ने में व्हाट्स एप ग्रुप की बड़ी भूमिका रही है.

First published: 20 April 2016, 17:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी