Home » इंडिया » in kashmir: mob attack on pdp mla
 

कश्मीर में पीडीपी विधायक पर भीड़ ने किया पत्थरों से हमला

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2016, 12:57 IST
(पत्रिका)

कश्मीर में हिंसक प्रदर्शनकारियों ने सत्ताधारी पीडीपी विधायक मोहम्मद खलील बंध पर पत्थरों से हमला कर दिया. हमले में जख्मी विधायक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बताया जा रहा है कि बंध पर यह हमला उस समय हुआ, जब वो अपने निर्वाचन क्षेत्र पुलवामा से राजधानी श्रीनगर जा रहे थे. हमले के दौरान बंध की कार पलट गई. इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए.

पुलवामा से विधायक मोहम्मद खलील बंध पर यह हमला रविवार देर रात करीब एक बजे हुआ. भीड़ ने उनकी कार पर पत्थर फेंके. उन्हें श्रीनगर के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

महबूबा मुफ्ती ने जाना हाल

राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बंध को देखने आर्मी बेस अस्पताल पहुंची. हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की एकनाउंटर में मौत के बाद जारी हिंसक प्रदर्शनों के दौरान पीडीपी के कई नेताओं पर हमले हो चुके हैं.

हिंसक भीड़ ने कुछ दिन पहले ही पीडीपी के एक कार्यकर्ता के घर को आग लगा दी थी. इसके अलावा भीड़ ने पीडीपी के ही एक अन्य नेता के सेब के बाग को तहस-नहस कर दिया था.

लोगों का आरोप है कि विधायक क्षेत्र की जनता के पास नहीं जाते हैं और उनकी समस्याओं पर ध्यान नहीं देते हैं. गौरतलब है कि कश्मीर में 9 जुलाई से जारी हिंसा में अब तक 43 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि 3160 लोग घायल हुए हैं.

हिंसा में अब तक 43 की मौत

कश्मीर के बांदीपुरा जिले में रविवार को भीड़ ने सेना के एक शिविर में घुसने का प्रयास किया. इससे कर्फ्यू ग्रस्त कश्मीर में दिन में बनी शांति भंग हो गई.

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने बांदीपुरा जिले में अजस के पास सेना के शिविर पर हमला किया. सुरक्षा बलों को फायरिंग के लिए मजबूर होना पड़ा. इसमें तीन लोग घायल हो गए. शहर के ईदगाह क्षेत्र में पत्थर फेंक रही भीड़ पर सुरक्षा बलों की कार्रवाई में दो लोग घायल हुए हैं.

वहीं बांदीपुरा के विधायक उस्मान माजिद ने दावा किया था कि झड़प के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हुए.

सीआरपीएफ के दो हजार अतिरिक्त जवान भेजे

केन्द्र ने घाटी में हिंसक स्थिति पर काबू पाने के लिए सीआरपीएफ के दो हजार अतिरिक्त जवानों को भेजा गया है. अधिकारियों ने बताया कि कुल 20 और कंपनियां घाटी में भेजी जा रही हैं. एक कंपनी में 100 जवान होते हैं.

इससे पहले पिछले हफ्ते पुलिस रिजर्व बल के 2800 जवान राज्य पुलिस की मदद के लिए भेजे गए थे.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों के काफिलों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए नई इकाइयों में से कुछ को विशेष रूप से रोड ओपनिंग पार्टी का काम सौंपा जाएगा. राज्य में पहले से ही करीब 60 बटालियनें तैनात है. एक बटालियन में करीब 1000 जवान होते हैं.

First published: 18 July 2016, 12:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी