Home » इंडिया » in national herald case delhi HC refuses all the allegation on soniya, rahul by swami
 

नेशनल हेराल्ड केस: कोर्ट से मिला स्वामी को झटका, सोनिया राहुल को राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2016, 17:03 IST
(पीटीआई)

दिल्ली हाई कोर्ट ने नेशनल हेराल्ड केस में सुनवाई करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को बड़ी राहत दी है. दिल्ली हाई कोर्ट ने मामले में पटियाला हाउस कोर्ट के फैसले को निरस्त कर दिया है.

पटियाला हाउस कोर्ट ने 11 मार्च को नेशनल हेराल्ड मामले में बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी की उस मांग को स्‍वीकार कर लिया था जिसमें इंडियन नेशनल कांग्रेस (आईएनसी) और एसोसिएटिड जनरल प्राइवेट लिमिटेड (एजेएल) की वित्तीय जानकारी से जुड़े कुछ कागजात समन करने की मांग की गई थी.

इसके अलावा कोर्ट ने सभी संबंधित विभागों को आदेश जारी किया है कि वह संबंधित दस्‍तावेजों की प्रति स्‍वामी को दें.

इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके बेटे और उपाध्यक्ष राहुल गांधी, कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा, वरिष्ठ नेता ऑस्कर फर्नांडीस, राजीव गांधी के मित्र सुमन दूबे और सैम पित्रोदा भी आरोपी हैं.

दिल्ली हाई कोर्ट ने अपने ऑर्डर में कहा है कि सीआरपीसी के सेक्शन 91 के तहत कोई भी ऑर्डर करने से पहले आरोपी पार्टी को सुना जाना जरूरी है, जो इस मामले में नहीं किया गया.

कोर्ट ने कहा कि इस मामले में सुब्रमण्यम स्वामी ने कैजुअल तरीके से एप्लीकेशन लगाई और उसी कैजुअल तरीके से पटियाला हाउस कोर्ट ने आदेश दे दिए.

हालांकि, कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि सुब्रमण्यम स्वामी इस आदेश के खिलाफ अपील कर सकते हैं.

गौरतलब है कि बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने गांधी परिवार पर आरोप लगाया है कि उन्होंने हेराल्ड की प्रॉपर्टीज का गलत तरीके से इस्तेमाल किया है.

वे इस आरोप को लेकर साल 2012 में कोर्ट गए. 26 जून 2014 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मोतीलाल वोरा, सुमन दूबे और सैम पित्रोदा को समन जारी कर पेश होने का आदेश दिया था.

First published: 12 July 2016, 17:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी