Home » इंडिया » In nithari case: nanda devi murder case surendra koli get death penalty
 

निठारी केस: नंदा देवी मर्डर में दोषी सुरेंद्र कोली को फांसी की सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:22 IST
(एजेंसी)

नोएडा के चर्चित निठारी कांड के नंदा देवी मर्डर केस में भी कोर्ट ने सुरेंद्र कोली को फांसी की सजा सुना दी. यह फैसला शुक्रवार गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने सुनाया.

बीते बुधवार को कोर्ट ने सुरेंद्र कोली को नंदा देवी मर्डर केस में दोषी ठहराया था. कोली 2006 के चर्चित निठारी कांड में मुख्य दोषी है.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार की इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील को लेकर कोली से जवाब मांगा था.

सुरेंद्र कोली की अपील पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने उसकी फांसी की सजा को उम्रकैद में बदल दिया था.

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन चीफ जस्टिस एचएल दत्तू, जस्टिस अमितावा रॉय और अरुण मिश्रा की बेंच ने यूपी सरकार की हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील पर कोली को नोटिस जारी किया था.

इस साल 28 जनवरी को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 14 वर्षीय रिम्पा हल्दर की हत्या के आरोप में कोली की मौत की सजा को उम्रकैद में बदल दिया था.

13 फरवरी 2009 को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने कोली को मौत की सजा सुनाई थी.

गौरतलब है कि निठारी केस में सुरेंद्र कोली के खिलाफ कुल 16 मामले दर्ज हैं, जिनमें से पांच केस में वो कोर्ट से फांसी की सजा पा चुका है.

2006 के दिसंबर महीने में नोएडा के निठारी गांव के पास डी-5 कोठी में सालभर से गायब हो रहे बच्चों की लाशें मिली थीं. इस मामले के सामने आने के बाद पूरे देश में काफी हड़कंप भी मचा था.

First published: 7 October 2016, 6:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी