Home » इंडिया » Catch Hindi: Congress fights fire with fire over AgustaWestland deal
 

अगस्ता वेस्टलैंडः भाजपा के ईंट का जवाब पत्थर से दे रही कांग्रेस

आकाश बिष्ट | Updated on: 29 April 2016, 8:46 IST
QUICK PILL
  • इटली की अदालत के अनुसार अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी की तरफ से भारत को हेलीकॉप्टर बेचने में दलाली दी गई थी. मामले में पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी समेत कई कांग्रेस नेताओं पर आरोप लगाए जा रहे हैं.
  • बीजेपी इस मामले पर कांग्रेस को घेरने की तैयारी में लग रही थी लेकिन इतालवी अदालत का फैसला आने के बाद कांग्रेस ही बीजेपी को घेरती नजर आ रही है.

बीजेपी का अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील को कांग्रेस के खिलाफ प्रयोग करने का दांव उल्टा पड़ता दिख रहा है. पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर आरोप लगाया कि उन्हें अगस्ता वेस्टलैंड पर कांग्रेस द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को हटाकर उसे अपने 'मेक इन इंडिया' कैंपेन में भागीदारी की अनुमति दी. जबकि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इसका विरोध किया था.

कांग्रेस ने बीजेपी पर पलटवार करते हुए प्रतिबंधित कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड को भारत में वेंडर या सब-कॉन्ट्रैक्टर के रूप में मेक इन इंडिया में शामिल किए जाने में सरकार की भूमिका पर सवाल उठाया है.

पढ़ेंः पीएम मोदी की योजनाओं पर गुजरात में होगी पीएचडी

एंटनी ने दावा किया है कि नरेंद्र मोदी और तत्कालीन रक्षामंत्री ने एटार्नी जनरल से मशविरा करके 22 अगस्त, 2014 को इस बाबत आदेश पारित किया. जिसके तहत फिनमेकैनिका (अगस्ता वेस्टलैंड की मदर कंपनी) और उसकी सब्सिडरी कंपनियों को भारत में संयुक्त उपक्रम खोलने की अनुमति दी गई.

जिसके बाद भारतीय कंपनी टाटा और अगस्ता वेस्टलैंड के संयुक्त उपक्रम रोटोक्राफ्ट को फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड ने भारत में निवेश की इजाजत दी. एंटनी ने कहा, "भारतीय प्रधानमंत्री ने एक प्रतिबंधित कंपनी को भारत में निवेश की इजाजत क्यों दी? हम उनकी गलती और कंपनी के साथ गठजोड़ को उजागर करेंगे. देश को आने वाले दिनों में सरकार और इस कंपनी की सांठगांठ का पता चल जाएगा."

कांग्रेस ने एसपी त्यागी, एनएसए अजित डोभाल और प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा के आपसी संबंधों पर सवाल उठाया है

कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह और राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे को भी कठघरे में खड़ा किया. कांग्रेस के अनुसार महालेखा परीक्षक (कैग) ने पाया कि दोनों ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीदे जिससे सरकार को नुकसान हुआ.

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, "मोदी सरकार अपने मुख्यमंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करती?"

सुरजेवाला ने अनुसार कैग ने इन हेलीकॉप्टर की खरीद में छत्तीसगढ़ को एक करोड़ चौदह लाख रुपये के नुकसान और राजस्थान को 65 लाख रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया है.

कांग्रेस ने सरकार द्वारा अगस्ता वेस्टलैंड के संयुक्त उपक्रम को नौसेना के उपयोग के लिए 100 हेलीकॉप्टर के लिए निविदा डालने की अनुमति देने पर भी सवाल उठाया है.

पढ़ेंः 'जिन्ना का नहीं, जिया के ख्वाबों का पाकिस्तान बन रहा है'

सुरजेवाला ने बीजेपी से पूछा क्या कि भारतीय प्रधानमंत्री ने इटली के पीएम के संग कोई गुपचुप समझौता कर लिया है कि वो कांग्रेसी नेताओं को फंसा दें बदले में भारत इतालवी नौसैनिकों को छोड़ देगा. इन नौसैनिकों पर भारतीय मछुवारों की हत्या का मामला चल रहा है.

कांग्रेस ने अगस्ता वेस्टलैंड में आरोपों में घिरे पूर्व एयर चीफ मार्शनल एसपी त्यागी और भारतीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल और प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा के आपसी संबंधों पर भी सवाल उठाया है.

कांग्रेस का कहना है कि ये तीनों आरएसएस से जुड़े थिंक टैंक विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन से जुड़े रहे हैं.

पढ़ेंः पिछले तीन साल में लू से मरने वालों की संख्या 4200 के पार

इटली की अदालत के 225 पन्नों के फैसले में त्यागी का नाम कई बार आया है. इतालवी अदालत के अनुसार अगस्ता वेस्टलैंड की 3600 करोड़ रुपय की डील में त्यागी ने नगद घूस ली थी.

कांग्रेस का बचाव करते हुए एंटोनी ने कहा कि वीवीआईपी के लिए 12 हेलीकॉप्टरों की खरीद प्रक्रिया में ये प्रावधान था कि डील में किसी भी तरह के भ्रष्टाचार, बिचौलिए या अन्य तरह की धांधली की बात सामने आने पर सरकार ये डील रद्द कर सकती है.

एंटोनी ने कहा, "इसीलिए जब हम इटली से पहली सूचना मिली कि इस डील में बिचौलिए की भूमिका हो सकती है तो यूपीए सरकार तत्काल हरकत में आ गई. पहले हमने अपने रोम स्थित दूतावास से मामले का विस्तृत ब्योरा मांगा. हमारा करार अगस्ता वेस्टलैंड, ब्रिटेन के साथ था इसलिए हमने ब्रितानी सरकार से मामले में मदद मांगी. हमें उस समय इसके बारे में ठोस सुबूत नहीं मिले लेकिन हमने मामले की पड़ताल जारी रखी."

एंटोनी ने कहा कि भारत सरकार ने पहली बार इटली की अदालत में मुकदमा लड़ा और दस्तावेज हासिल किए. यूपीए सरकार ने अदालत की कार्यवाही के नियमित निगरानी के लिए एक प्रतिनिधि भेजा.

कांग्रेस ने पीएम से की बीजेपी के दो मुख्यमंत्रियों के अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद पर कार्रवाई की मांग

एंटोनी ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा, "हमने ही अगस्ता वेस्टलैंड का समझौता रद्द किया. हमने ही सच उजागर करने के लिए सीबीआई को जांच सौंपी. जब ये साबित हो गया कि इस डील में बिचौलिए की भूमिका थी हमने कंपनी से अपनी अग्रिम राशि वापस ले ली और उसकी बैंक गारंटी जब्त कर ली."

एंटोनी ने कहा की सीबीआई जांच का आदेश दिए जाने के बाद भारत सरकार ने जितना पैसा दिया था उससे ज्यादा वसूल कर लिया. एंटोनी ने कहा, "हमने मुकदमा जीत लिया और उनसे ज्यादा पैसा वसूला."

एंटोनी ने बताया कि यूपीए ने कंपनी को प्रतिबंधित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी जिसपर एटार्नी जनरल ने कुछ सवाल उठाए थे. कांग्रेस मामले को आगे बढ़ा पाती इससे पहले लोकसभा चुनाव आ गए जिसके कारण पार्टी को इस मामले के लिए समय ही नहीं मिला.

जाहिर है बीजेपी ने सोचा होगा कि इस मामले में कांग्रेस बुरी तरह घिर जाएगी लेकिन हालात कुछ और ही इशारा कर रहे हैं.

पढ़ेंः अब प्रशांत किशोर ले आए हैं राहुल की चने पर चर्चा?

बजट सत्र के उत्तरार्ध के दूसरे दिन कांग्रेसी नेता सोनिया गांधी से उनके निवास 10 जनपथ पर मिले. सोनिया ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "मैंने कुछ गलत नहीं किया. बीजेपी की दो साल से सरकार है, वो मामले की निष्पक्ष जांच को जल्द से जल्द क्यों नहीं पूरा कराती?"

सोनिया गांधी के करीबी माने जाने वाले अहमद पटेल ने बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा, "अगर जरा भी सुबूत हो तो उन्हें मुझे फांसी पर लटका देना चाहिए." आरोप हैं कि पटेल का नाम भी सोनिया गांधी की तरह इतालवी अदालत के फैसले में आया है.

राज्यसभा में सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया गांधी का नाम भर ही लिया कि कांग्रेसी नेता विरोधस्वरूप सदन के वेल में आ गए. जिसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई. वहीं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही सुचारू रुप से चले इसके चलते आगस्ता वेस्टलैंड पर चर्चा की अनुमति नहीं दी.

अगस्ता वेस्टलैंड का ऊंट किस करवट बैठेगा ये तो वक्त बताएगा लेकिन राजनीतिक जानकारों को लगने लगा है कि ये मामला भी नेशनल हेराल्ड और डीएलएफ मामले की तरह सत्ता और विपक्ष के बीच राजीतिक बढ़त का औजार बना कर रह सकता है.

First published: 29 April 2016, 8:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी