Home » इंडिया » in up sho want his transfer due to sp mla muscle power
 

चिट्ठी में एसएचओ ने बयां किया दर्द- 'सपा विधायक के इशारों पर नहीं नाच सकता'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव की सख्त हिदायत के बावजूद भी प्रदेश में सपा एमएलए की गुंडागर्दी कम होने का नाम नहीं ले रही है.

इसी सिलसिले में एक घटना मुरादाबाद से आ रही है. जहां कांठ विधानसभा क्षेत्र से एमएलए अनीसुर्रमान सैफी की सिफारिशों से तंग आकर कांठ थाने के एसएचओ अखिलेश प्रधान ने एसएसपी को खत लिखकर खुद को पद से हटाने का अनुरोध किया है.

एसएचओ प्रधान ने कहा कि मैं ऐसा कोई काम नहीं कर सकता, जिससे जनता का भरोसा पुलिस से उठे. उन्होंने चिट्ठी में अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि मैं सपा एमएलए के इशारों पर नहीं नाच सकता हूं.

एसएसपी को लिखी चिट्ठी

एसएचओ ने कहा कि सपा एमएलए ने सभी अपराधियों का ठेका ले रखा है. जिन अपराधियों को हम पकड़ते हैं, उन्हें छुड़ाने की मांग सपा एमएलए करते हैं.

मालूम हो कि कुछ इसी तरह की शिकायत को लेकर पिछले महीने आगरा जोन के एक सिपाही अभिनव कुमार ने भी सीएम अखिलेश यादव को यूपी में लॉ एंड ऑर्डर की बदहाली और भ्रष्टाचार को लेकर लेटर लिखा था.

मुरादाबाद के कांठ थाने का मामला

पुलिस विभाग के सूत्रों के मुताबिक मुखत्यारपुर नवादा गांव में पिछले दिनों साम्प्रदायिक बवाल हुआ था, जिसमें एक समुदाय अवैध तरीके से धार्मिक स्थल का निर्माण करवाना चाहता था.

आरोप है कि इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई की थी. इस कार्रवाई से कांठ विधानसभा से सपा एमएलए अनीसुर्रहमान गुस्सा गए.

उन्होंने कार्रवाई का विरोध जताया और एसएचओ कांठ अखिलेश प्रधान पर निर्दोष लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव बनाया.

एमएलए अनीसुर्रहमान पर धमकाने का आरोप

पुलिस सूृत्रों के मुताबिक, एसएचओ अखिलेश प्रधान ने एमएलए की बात मानने से मना कर दिया. इस पर एमएलए अनीसुर्रहमान ने एसएचओ अखिलेश प्रधान को हटवाने की धमकी दी. थाने पहुंचकर एमएलए अनीसुर्रहमान ने पुलिसकर्मियों को डांटना शुरू कर दिया.

एसएचओ ने फिर से मना किया तो एमएलए भड़क गए और फोन पर एसओ को धमकी दे डाली. एमएलए अनीसुर्रहमान ने एसओ अखिलेश से कहा कि 24 घंटे के अंदर तुम्हारी थानेदारी हटवा दूंगा.

एसएचओ कांठ प्रधान ने कहा कि सपा एमएलए अनीसुर्रहमान लगातार गलत काम करवाने का दबाव बना रहे थे. एमएलए द्वारा आए दिन दबाव बनाने से परेशान होकर उन्‍होंने एसएसपी नितिन तिवारी को लेटर लिखकर पद से हटाने की मांग की.

एसओ अखिलेश ने कहा कि पुलिस विभाग पर लोगों का विश्वास टूटे, इसलिए मैं सपा एमएलए अनीसुर्रहमान का एजेंट बनकर काम नहीं कर सकता हूं.

First published: 8 September 2016, 1:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी