Home » इंडिया » Increased tension with China on Tibet border, deployment of advanced troops in India
 

तिब्बत सीमा पर चीन के साथ बढ़ा तनाव, भारत में बढ़ाई सैनिकों की तैनाती

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2018, 17:32 IST

भारत ने तिब्बती क्षेत्र में चीन की सीमा पर दीबंग, डू-डेलाई और लोहित घाटियों के पहाड़ी इलाकों में और अधिक सैनिकों को तैनात किया है. इसे दशकों में दोनों देशों के बीच सबसे ताकतवर सैन्य टकराव माना जा रहा है. सैन्य अधिकारियों का कहना है कि भारत रणनीतिक रूप से संवेदनशील तिब्बती क्षेत्र में सीमाओं के साथ चीनी गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए अपने निगरानी तंत्र को मजबूत कर रहा है और वह यहां नियमित रूप से हेलीकॉप्टरों को तैनात कर रहा है.

उन्होंने कहा कि भारत कई इलाकों में अपना प्रभाव बढ़ा रहा है, जिसमे 17,000 फुट की पहाड़ी और बर्फ से ढका पहाड़ शामिल हैं. इसे दीबंग, डू-डेलाई और लोहित घाटियों की सीमा पर भारत और चीन की बढ़ती बढ़ती प्रतिस्पर्धा का हिस्सा है.

अधिकारियों का कहना है कि डॉकलामेंट पोस्ट स्टैंड ऑफ़ के बाद, हमने अपनी गतिविधियों को कई गुना बढ़ा दिया है. हम पूरी तरह से किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं, अधिकारी ने कहा कि भारतीय सेना ने अपनी एलआरपी को बढ़ा रही है.

भारत और चीन के सैनिकों के बीच पिछले साल 16 जून के बाद से डोकलाम क्षेत्र में 73 दिनों तक गतिरोध रहा. गतिरोध भारतीय सेना द्वारा चीनी सेना के विवादित क्षेत्र में सड़क का निर्माण रोकने के बाद शुरू हुआ था भारत ने 'हमने भारत, चीन एवं म्यांमार की सीमाओं के एक मिलन बिंदु (ट्राइ-जंक्शन) सहित सामरिक रूप से महत्वपूर्ण सभी इलाकों पर ध्यान देते हुए अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है.

ये भी पढ़ें : मोदी सरकार ने 13 IAS अफसरों को बनाया संयुक्त सचिव, उप चुनाव आयुक्त होंगे चंद्र भूषण कुमार

First published: 31 March 2018, 17:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी