Home » इंडिया » Independence Day 2019 PM Modi live from red fort on occasion of 73rd independence day
 

Article 370: लालकिले से बोले पीएम मोदी, जो 70 साल में नहीं हुआ वो हमने 70 दिन में कर दिखाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 August 2019, 9:12 IST

आज पूरा देश आजादी की 73वीं वर्षगांठ मना रहा है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देश को ताकत देने और हाल ही में जम्मू-कश्मीर से निष्क्रिय किए गए अनुच्छेद 370 और 35A को जम्मू-कश्मीर के साथ देश हित में बताया. इसके अलावा पीएम मोदी ने तीन तलाक बिल में संशोधन सहित अपनी सरकार की तमाम उपलब्धियों के बारे में राष्ट्र को बताया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने रोजाना एक कानून को खत्म किया है, ताकि लोगों पर से बोझ कम हो सके. उन्होंने कहा कि इस सरकार के 10 हफ्तों में भी 60 कानूनों को खत्म किया. पीएम मोदी ने कहा कि अब जरूरत है कि धीरे-धीरे सरकारें लोगों के जीवन से बाहर निकले और लोग आजादी से अपने आप को आगे बढ़ा सकें. किसी पर भी सरकार का दबाव नहीं होना चाहिए, लेकिन मुसीबत के वक्त में सरकार हमेशा लोगों के साथ खड़े होना चाहिए.

अनुच्छेद 370 और 35A को हटाए जाने पर पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद से अभी तक जिन्होंने देश के विकास में योगदान दिया है, उनको भी वह नमन करते हैं. पीएम ने कहा कि नई सरकार को 10 हफ्ते भी नहीं हुए हैं, लेकिन इतने कम समय में भी हर क्षेत्र में काम किया जा रहा है. 10 हफ्ते के भीतर ही अनुच्छेद 370, 35A का हटना सरदार वल्लभ भाई पटेल के सपनों को साकार करने में एक कदम है.

उन्होंने कहा कि मुस्लिम बहनों के हित के लिए तीन तलाक को खत्म किया गया और बिल लाया गया. इसी के साथ मोदी ने विपक्षी पार्टियों पर भी जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि अगर अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर के हित में था तो आप लोगों ने इसे पर्मानेंट क्यों नहीं किया. अनुच्छेद 370 के हटने से एक देश एक संविधान का सपना साकार हुआ है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक बिल में संशोधन को लेकर कहा कि देश की मुस्लिम बेटियां डरी हुई थीं. भले ही वो तीन तलाक की शिकार नहीं बनी हों लेकिन उनके मन में डर रहता था. तीन तलाक को कई इस्लामिक देशों ने भी खत्म कर दिया था, तो हमने क्यों नहीं किया. अगर देश में सती प्रथा, दहेज और भ्रूण हत्या के खिलाफ कानून बना सकते हैं तो तीन तलाक के खिलाफ क्यों नहीं.

भारतीय रेलवे को मिली पहली कमांडो फोर्स, खासियत जानकर रह जाएंगे दंग

First published: 15 August 2019, 9:02 IST
 
अगली कहानी