Home » इंडिया » IndependenceDay 2018: PM Narendra modi says on red fort, We have to free our society and country from this disgusting mentality of rape
 

बलात्कार पर PM मोदी ने कहा- काननू अपना काम रहा है, कानून को हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 August 2018, 11:10 IST
(ANI twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की आजादी के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश को संबोधित करते हुए बलात्कार जैसी जघंन्य आपराधिक घटनाओं पर बोलते हुए कहा कि देश के विकास में महिलाएं बराबर का योदगान दे रही है. लेकिन हमको कुछ राक्षसी विकृतियों का सामना करना पड़ रहा है. जिसको समाप्त करना होगा. 

प्रधानमंत्री ने ऐलान किया कि शॉर्ट सर्विस कमिशन में अब महिलाओं की स्थाई रूप से एंट्री मिलेगी. पहले ये लाभ सिर्फ पुरुषों को ही मिलता था.  देश में आज भी महिला शक्तियों को चुनौतियां देने वाली राक्षसी प्रवृति की मानसिकता वाले लोग गलत काम कर रहे हैं, बलात्कार काफी पीड़ा दायक है. समाज को इससे मुक्त कराना होगा.

पीएम मोदी ने कहा कि महिलाए देश के विकास में महिलाएं कंधा से कंधा मिलाकर चल रही हैं. महिलाएं बराबर की हिस्सेदारी निभा रही हैं इसको देश भी अनुभव कर रहा हैं. हमारी महिलाएं खेत से खेल तक , सरपंच से संसद तक देश के विकास में योगदान दे रही हैं. महिलाएं आगे बढ़ रही हैं. महिलाओं के आगे बढ़ने के साथ कुछ विकृतियां भी सामने देखने को मिल रही हैं. कुछ राक्षसी विकृति के लोग बलात्कार जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. बल्ताक्रा पीड़ा दायक हैं. हमारी उस बेटी से लाखों गुना ज्यादा पीड़ा देश को होनी चाहिए.

इस राक्षसी मनोवृति से देश को मुक्त कराना होगा. कानून अपना काम कर रहा है. मध्यप्रदेश के कटनी में पांच में दिन के अंदर एक बलात्कार के आरोपी को फांसी दी गई. राजस्थान में भी एक रेप केस में सजा दी गई. हमको फांसी की सजा को प्रचारित करना होगा. इससे रासशी विकृतियों के लोगों में भय पैदा होगा. डर पैदा होगा. इसको जितना प्रचारित किया जाएगा, राक्षसी लोगों में उतना ही भय पैदा होगा. इसका प्रचार करना होगा. हमको इस रासक्षी सोच पर प्रहार करने की जरूरत है.

पीएम मोदी ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता है. ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए परिवारों को भी योगदान देना होगा. परिवारों द्वारा अपने बच्चों को महिलाओं का सम्मान करने के संस्कार देने होंगे.
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं अपनी मुस्लिम महिलाओं से कहना चाहता हूं कि तीन तलाक की कुरुति ने मुस्लिम बेटी और महिलाओं की जिंदगी को तबाह कर दिया है. इस सत्र में भी हमने तीन तलाक बिल को पास करना की कोशिश की. लेकिन लेकिन कुछ लोगों ने इसको पारित नहीं होने दिया. मैं अपनी मुस्लिम बेटी और बहनों से कहना चाहता हूं कि उनको न्याय दिलाने के लिए मैं कोई कसर नहीं छोड़ूंगा.

ये भी पढ़ें-  लाल किले से बोले PM मोदी, 2014 में देश ने नई सरकार बनाने के साथ देश को बनाने का काम किया

पीएम मोदी ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता है. ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए परिवारों को भी योगदान देना होगा. परिवारों द्वारा अपने बच्चों को महिलाओं का सम्मान करने के संस्कार देने होंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं अपनी मुस्लिम महिलाओं से कहना चाहता हूं कि तीन तलाक की कुरुति ने मुस्लिम बेटी और महिलाओं की जिंदगी को तबाह कर दिया है. इस सत्र में भी हमने तीन तलाक बिल को पास करना की कोशिश की. लेकिन लेकिन कुछ लोगों ने इसको पारित नहीं होने दिया. मैं अपनी मुस्लिम बेटी और बहनों से कहना चाहता हूं कि उनको न्याय दिलाने के लिए मैं कोई कसर नहीं छोड़ूंगा.

ये भी पढ़ें-  लाल किले से बोले PM मोदी, 2014 में देश ने नई सरकार बनाने के साथ देश को बनाने का काम किया

First published: 15 August 2018, 9:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी