Home » इंडिया » India Air Force chief BS Dhanoa gifts his own wings to new flying officer G Navin Kumar Reddy
 

फ्लाइंग ऑफिसर बने नवीन कुमार रेड्डी तो वायुसेना प्रमुख ने दिया ये नायाब तोहफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2019, 9:11 IST

सेना में ऑफिसर बनना हर किसी का सपना होता है और जब वह सेना में शामिल होकर अधिकारी बनता है तो वह दिन उसकी जिंदगी का सबसे यादगार और गर्व का दिन होता है. वहीं अगर इस दौरान खुद सेना प्रमुख उसे कोई उपहार दें तो फिर कहना ही क्या. ऐसा ही गर्व महसूस हुआ होगा जी नवीन कुमार रेड्डी को. दरअसल, जी नवीन कुमार रेड्डी शनिवार,15 जून 2019 को भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर शामिल हुए. 

हैदराबाद के पास डुंडीगल की वायुसेना अकादमी से बेहद मुश्किल ट्रेनिंग पासकर जी नवीन कुमार रेड्डी ने ये मुकाम हासिल किया. ये पल नवीन कुमार से साथ-साथ उनके माता-पिता के लिए भी बेहद खास और गर्व करने वाला था. लेकिन इसके साथ उन्हें जो तोहफा मिली वो शायद सभी गर्व और खुशियों से ऊपर था और वह था भारतीय वायुसेना प्रमुख द्वारा उन्हें एक नायाब तोहफा देना.

दरअसल, फ्लाइंग ऑफिसर जी नवीन कुमार रेड्डी को भारतीय वायुसेना प्रमुख वीएस धनोवा ने अपनी वर्दी से अपने विंग्स निकालकर उनके सीने पर सजाए. यह पल फ्लाइंग ऑफिसर नवीन कुमार रेड्डी के लिए बेहद खास था. वहीं सेना में सूबेदार के पद पर तैनात उनके पिता भी अपने बेटे पर गर्व महसूस कर रहे थे. वहीं रेड्डी की मां भी अपने लाड़ले की इस कामयाबी से फूली नहीं समा रही थीं.

विंग्स किसी कैडेट को तब मिलते हैं जब वह वायुसेना में कमीशन पाकर ऊंचे ओहदे पर पहुंचता है. इसे वर्दी के सामने पहना जाता है. वायुसेना प्रमुख ने अपने विंग्स युवा अधिकारी को पहनाते हुए कहा कि, "मैं सितंबर में अपनी वर्दी उतार रहा हूं तो मेरे विंग्स एक युवक के लिए दे रहा हूं ताकि वो फ्लाइंग की चुनौतियों और कसौटियों पर खरा उतर सके."

बता दें कि भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोवा सितंबर में रिटायर हो रहे हैं. फ्लाइंग ऑफिसर जी नवीन कुमार रेड्डी ने वायुसेना अकादमी के इस बैच में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर रहे हैं. ये सम्मान उस कैडेट को मिलता है जो पूरी ट्रेनिंग के दौरान हर क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करता है. इसमें राष्ट्रपति की तरफ से सम्मान पट्टिका दी जाती है. साथ ही वायुसेना प्रमुख अपने हाथों से एक तलवार देते हैं.

बता दें कि फ्लाइंग ऑफिसर जी नवीन कुमार रेड्डी के पिता जी पुल्ला रेड्डी भारतीय सेना में सूबेदार रैंक के पद पर हैं. उन्होंने बताया कि उनकी हमेशा से ये तमन्ना थी कि उनका बेटा भारतीय सेना में अफसर बने. इसीलिए उन्होने अपने बेटे को आंध्रप्रदेश के विजियानगरम जिले के कोरूकोंडा सैनिक स्कूल में भर्ती कराया.

ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हड़ताली डॉक्टर्स, जगह बाद में तय करने की कही बात

First published: 16 June 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी