Home » इंडिया » India became first country of the world to report dip in malaria death cases
 

WHO की रिपोर्ट में खुलासा- भारत है दुनिया का एकमात्र देश जो दे रहा है मलेरिया को मात

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 November 2018, 11:03 IST
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

भारत ने मलेरिया के खिलाफ अभियान में महत्वपूर्ण उन्नति हासिल की है. बीते 2016 से 2017 यानी केवल एक साल में भारत में मलेरिया के मामलों में 24 प्रतिशत की कमी आई है. भारत इस मामले में पहला ऐसा देश बन गया है. जिसने ये आंकड़ा हासिल किया है. इस बात की पुष्टि विश्व मलेरिया रिपोर्ट ने की है.

भारत में मलेरिया के कारण होने वाली मौतों में भी भारी मात्रा में गिरावट हुई है. 2018 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2017 में मलेरिया के कारण 194 मौतें दर्ज की गई हैं. जो कि पहले 2016 में 331 दर्ज की गई थीं. गौरतलब है कि भारत मलेरिया प्रभावित देशों में शीर्ष 11 देशों में से एक था.

इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जारी की एक रिपोर्ट में कहा, ''भारत एकमात्र देश है जिसने मलेरिया के मामलों में गिरावट दर्ज की है. 2016 के मुक़ाबले 2017 में 24 फ़ीसदी की गिरावट रही.''

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार मलेरिया रिपोर्ट के मुताबिक़, 2017 में दुनिया भर के मलेरिया के मामलों में 4 फ़ीसद भारत में थे. अब भारत ने सफलतापूर्ण इस आंकड़े को कम किया है. गौरतलब है कि भारत का लक्ष्य 2027 तक पूरी तरह मलेरिया-मुक्त देश बनने का हैं.

सावधान ! ...तब तो जल्दी ही पूरी दिल्ली बन जाएगी नामर्द

हाल ही में जारी हुई स्वास्थ विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार इस साल सितंबर तक देश में मलेरिया के 2 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किये, वहीं मलेरिया से होने वाली मौतों की संख्या घटकर 29 रह गई. भारत के तीन राज्यों- ओडिशा, छतीसगढ़ ओर पश्चिम बंगाल में मलेरिया के काफी मामले आते रहे यहीं. इस बार इन राज्यों में भी मलेरिया के मामलों में काफी कमी आई है.

First published: 20 November 2018, 10:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी