Home » इंडिया » india begins process to procure 115 fighter jets for air force will be world's largest defense deal
 

भारत करेगा दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील, खरीदेगा इतने फाइटरजेट दुश्मन रह जाएंगे हैरान

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2018, 10:35 IST

भारतीय वायुसेना की 115 फाइटर जेट्स की जरूरत को पूरा करने के लिए सरकार ने शुक्रवार को टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है. वायुसेना ने इसके लिए दुनियाभर की बड़ी एयरक्राफ्ट कंपनियों से आवेदन मांगे हैं. इंडियन एयरफोर्स ने अपनी वेबसाइट पर कंपनियों के लिए ‘रिक्वेस्ट फॉर इन्फॉर्मेशन’ (आरएफआई) जारी किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो यह डील करीब 1 लाख करोड़ रुपये (करीब 15 बिलियन डॉलर) से भी अधिक की है. माना जा रहा है कि ये हाल के वर्षों में दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील है.

यह सौदा सरकार के मेक इन इंडिया पहल के साथ होगा. अधिकारियों ने कहा कि भारत में अत्याधुनिक रक्षा प्रौद्योगिकी लाने के मकसद से हाल में शुरू रणनीतिक भागीदारी मॉडल के तहत भारतीय कंपनी के साथ मिलकर विदेशी विमान निर्माता लड़ाकू विमानों का उत्पादन करेंगे.

 

सौदे की स्पर्धा में लॉकहीड मार्टिन, बोइंग, साब और दसॉल्ट समेत अन्य सैन्य विमान निर्माता कंपनियों के शामिल होने की उम्मीद है. वायुसेना पुराने हो चुके कुछ विमानों को बाहर करने के लिए अपने लड़ाकू विमान बेड़े की गिरती क्षमता का हवाला देते हुए विमानों की खरीद प्रक्रिया में तेजी लाने पर जोर दे रही है.

पढ़ें- अब रेलवे आपसे खानपान पर नहीं कर पाएगा अवैध वसूली, वित्त मंत्रालय ने लागू किया ये नियम

सरकार द्वारा पांच साल पहले वायु सेना के लिए 126 मध्यम बहु भूमिका लड़ाकू विमान (एमएमआरसीए) की खरीद प्रक्रिया को रद्द करने के बाद लड़ाकू विमानों के लिए यह पहला बड़ा सौदा होगा. इसकी जगह, राजग सरकार ने सितंबर 2016 में 36 राफेल दोहरे इंजन वाले लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए फ्रांस सरकार के साथ 7.87 अरब यूरो (करीब 59000 करोड़ रुपये) के सौदे पर दस्तखत किया था.

(एजेंसी से भी इनपुट)

First published: 7 April 2018, 10:35 IST
 
अगली कहानी