Home » इंडिया » India big move, evacuated Maldives peoples from China suffering to coronavirus
 

भारत का बड़ा कदम, कोरोनावायरस से पीड़ित मालदीव के भी नागरिकों को चीन से निकाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 February 2020, 18:19 IST

भारत सिर्फ अपने नागरिकों की ही नहीं अपने पड़ोसियों और दूसरे देश के नागरिकों की भी फिक्र करता है. इसकी बानगी तब देखने को मिली जब रविवार को चीन के वुहान से भारत ने कोरोनावायरस के प्रकोप से 323 भारतीयों के साथ सात मालदीव के नागरिकों को भी निकाला. इस वायरस से चीन में अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट कर इस बाबत जानकारी दी. एस जयशंकर ने बताया कि भारतीय नागरिकों के साथ भारत ने सात मालदीव के नागरिकों को भी यहां लाया, क्योंकि भारत अपने पड़ोसियों की फिक्र करता है.

एस जयशंकर ने ट्वीट किया, "काम पर फिर से #पड़ोसीपहले." भारतीय विदेश मंत्री ने इस ट्वीट में मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह, पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद और विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद को भी टैग किया.

गौरतलब है कि अमेरिका और कई अन्य देश अपने नागरिकों को चीन से निकाल रहे हैं. चीन में कोरोनावायरस ने कहर बरपाया है. 14 हजार से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हुए हैं. वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान अपने नागरिकों को वुहान से नहीं निकाल रहा है. उसने अपने लोगों को वहीं मरने के लिए छोड़ दिया है.

कोरोना वायरस की वजह से चीन के वूहान शहर में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने का काम पूरा हो चुका है. दो चरणों में करीब 650 लोगों को सुरक्षित भारत लाया गया है. बुखार और फ्लू से पीड़ित छह भारतीय एयर इंडिया के दूसरे विमान से भारत नहीं आ सके. वूहान की कुल आबादी 1.1 करोड़ है, यहां कोरोना वायरस फैलने के बाद लोग काफी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं.

दिल्ली विधानसभा चुनाव: कांग्रेस पार्टी का बड़ा ऐलान, केजरीवाल सरकार से ज्यादा देगी बिजली फ्री

पंजाब: उच्च सुरक्षा वाले जेल से 3 विचाराधीन कैदी भागे, CM ने दिए जांच के आदेश

First published: 2 February 2020, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी