Home » इंडिया » India Can't Keep Kashmir If Muslims Viewed With Suspicion: Farooq Abdullah
 

'मुसलमान देश के दुश्मन नहीं है लेकिन उनको संदेह की नजर से देखा जाता है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2016, 15:02 IST

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि मुसलमान देश के दुश्मन नहीं है, लेकिन उनको अब भी संदेह की नजर से देखा जाता है.

अब्दुल्ला ने कहा, 'अगर देश के मुसलमानों को संदेह से देखने वाली और अल्पसंख्यकों को बहुसंख्यकों के खिलाफ पेश करने वाली ताकतों पर अंकुश नहीं लगाया गया तो भारत कश्मीर को साथ नहीं रख पाएगा.'

अब्दुल्ला ने अपनी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकर्ताओं से कहा, 'भारत में ऐसा तूफान खड़ा किया जाता है जो खतरे की घंटे की है और अगर हम इसे नहीं समझते, अगर हम हिंदुओं को मुसलमानों से लड़ाना जारी रखते हैं, तो मैं आपको बता रहा है कि वे (केंद्र) कश्मीर को साथ नहीं रख सकते. यह सच्चाई है चाहे आप इसे पसंद नहीं करते हों.'

उन्होंने कहा, 'आज, मुसलमान को संदेह की नजर से देखा जाता है. क्या मुसलमान भारतीय नहीं है? क्या उसने कोई कुर्बानी नहीं दी? क्या आप 1947 के भारत-पाक युद्ध में शहीद ब्रिगेडियर उस्मान को भूल गए?

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, 'मुसलमान भारत के दुश्मन नहीं है. उन तत्वों पर काबू करो जो मुसलमानों को दुश्मन बताते हैं. भारत मुसलमानों के दिल में रहता है.'

First published: 25 February 2016, 15:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी