Home » इंडिया » India-China Face Off: India deployed mountain force in Ladakh teach a lesson to China
 

चीन की अब खैर नहीं, भारत ने लद्दाख में तैनात की माउंटेन फोर्स, कारगिल में टिक नहीं पाया था पाकिस्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2020, 15:08 IST

India China Face Off: भारत और चीन की सेना के बीच 15-16 जून की रात हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे. इसके बाद से ही भारत में चीन को लेकर भयंकर गुस्सा व्याप्त है. अब भारत ने एक ऐसा काम किया है, जिसका चीनी सैनिकों के पास कोई जवाब नहीं है. भारत ने लद्दाख में माउंटेन फोर्स की तैनाती कर दी है. 

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने 3488 किमी लंबे भारत-चीन वास्तविक नियंत्रण सीमा यानि LAC पर माउंटेन फोर्स की तैनाती कर दी है. माउंटेन फोर्स, भारतीय सेना की वो टुकड़ी है जो पहाड़ की ऊंचाइयों से अपने दुश्मनों पर नजर रखती है. चीनी सेना को करारा जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने इन्हें लद्दाख में तैनात किया है.

गुरिल्ला युद्ध में होते हैं माहिर

लद्दाख में चीन की सीमा पर तैनात की गई माउंटेन फोर्स गुरिल्ला युद्ध में माहिर होती है. इसके जाबांज जवान मुश्किल से मुश्किल हालात में दुश्मनों को सबक सिखाने में माहिर होते हैं. इन्हें खासतौर पर पहाड़ों पर लड़ने के लिए स्पेशल ट्रेनिंग दी जाती है. साल 1999 में भारत-पाकिस्तान के बीच कारगिल युद्ध में माउंटेन फोर्स ने पाक सैनिकों को मुंहतोड़ जवाब दिया था.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिवसीय रूस यात्रा पर रवाना, विजय दिवस परेड में करेंगे शिरकत

माउंटेन फोर्स का चीन भी मानता है लोहा

माउंटेन फोर्स की काबिलियत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि खुद चीन के एक्सपर्ट इनका लोहा मानते हैं. पिछले दिनों चीन के एक्सपर्ट ने कहा था कि इतनी मजबूत माउंटेन फोर्स अमेरिकी के पास भी नहीं है, यहां तक कि रूस के पास भी ये सेना नहीं है. ये ताकत सिर्फ भारत के पास है. पूर्व आर्मी चीफ ने बताया कि माउंटेन फोर्स के लड़ाकों के निशाने काफी सटीक होते हैं.

पूर्व आर्मी चीफ ने बताया कि इस स्पेशल फोर्स में उत्तराखंड, लद्दाख, अरुणाचल प्रदेश तथा सिक्किम के सैनिकों को तरजीह दी जाती है. उन्होंने बताया कि चीन के हिस्से की तरफ का इलाका थोड़ा समतल है, वहीं दूसरी तरफ भारत की तरफ वाली सीमा पर काफी मुश्किल भरी पहाड़ों की चोटियां हैं. इस कारण इनपर आगे बढ़ना भारतीय फौज के लिए आसान नहीं होता. हालांकि माउंटेन फोर्स इस पर बड़े आराम से कंट्रोल कर सकती है.

J&K: अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, सीजफायर उल्लंघन में एक जवान शहीद

यूपी : शेल्टर होम में 57 लड़कियां कोविड पॉजिटिव, 7 गर्भवती, प्रियंका गांधी ने लगाए ये आरोप

First published: 22 June 2020, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी