Home » इंडिया » India-China Face OFF: PM Modi said India wants peace but capable of giving befitting reply
 

India-China Face OFF: पीएम मोदी बोले- व्यर्थ नहीं जाएगा जवानों का बलिदान, हमारे सैनिक मारते मारते हुए शहीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 June 2020, 16:34 IST
(ANI)

India China Face OFF Galwan Valley: लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारतीय सेना (Indian Army) और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में हमारे 20 सैनिक शहीद हुए हैं. इस बाबत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश को संबोधित करते हुए कहा है कि भारतीय जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. बता दें, कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी (PM Modi) 16 राज्यों के मुख्यमंत्री की बैठक में पीएम मोदी ने यह बयान दिया है. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे. इस बैठक में शामिल हुए सभी व्यक्तियों ने शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए दो मिनट का मौन धारण किया.

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक से पहले पीएम मोदी ने कहा भारत अपनी अखंडता और संप्रभुता के साथ समझौता भी नहीं करेगा. उन्होंने कहा,"हमने हमेशा से अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर काम किया है. हमेशा उनके विकास और कल्याण की कामना की है. जहां कहीं मतभेद भी रहे हैं, हमने हमेशा ये प्रयास किया है कि मतभेद विवाद न बने. हम कभी किसी को भी उकसाते नहीं हैं. लेकिन अपने देश की अखंडता और संप्रभुता के साथ समझौता भी नहीं करते. जब भी समय आया है हमने देश की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने के लिए अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है, अपनी क्षमताओं को साबित किया है."

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमारे सैनिक चीन के सैनिकों को मारते मारते मरे हैं. पीएम मोदी ने कहा,"त्याग और तपस्या हमारे चरित्र का हिस्सा है. विक्रम और वीरता भी हमारे चरित्र का हिस्सा है. देश की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता. इसमें किसी को भी भ्रम नहीं होना चाहिए. भारत शांति चाहता है लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है और हमारे दिवंगत शहीद वीर जवानों के विषय में देश को इस बात का गर्व होगा कि वे मारते-मारते मरे हैं."


भारतीय सेना के मंगलवार देर रात इस बात की पुष्टी की कि देश ने अपने 20 जवान खो दिए. हालांकि, एएनआई ने सूत्रों के हवाले के कहा है कि इस हिंसक झड़प में चीन के सैनिक भी मारे गए हैं और यह संख्या 40 से अधिक हैं. लेकिन चीन ने कोई आंकड़ा नहीं बताया है कि उसके कितने सैनिक मारे गए है, हां चीन के मुखपत्र ग्लोेबल टाइम्स ने यह बात जरूर कबूली है कि चीन के सैनिक भी मारे गए हैं.

भारत-चीन टकराव : पीएम मोदी ने शुक्रवार को बुलाई सर्वदलीय बैठक, बड़े फैसले की उम्मीद

लद्दाख के गलवान में सैनिकों की क्षति परेशान करने वाली और दर्दनाक- रक्षा मंत्री, राजनाथ सिंह

First published: 17 June 2020, 16:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी